कॉलेज में ऑनलाइन दाखिले की प्रकिया में कैटेगरी बदलने में आ रही है समस्या

Karnal News - कॉलेजों में नए सत्र के दाखिले शुरू हो चुके हैं, उच्चत्तर शिक्षा विभाग की ओर से इस बार विद्यार्थियों को ऑनलाइन...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:00 AM IST
Karnal News - haryana news the problem of changing the category of online admission process in college
कॉलेजों में नए सत्र के दाखिले शुरू हो चुके हैं, उच्चत्तर शिक्षा विभाग की ओर से इस बार विद्यार्थियों को ऑनलाइन सुविधा दी जानी थी। जिससे विद्यार्थियों को कम समय आवेदन करने में लगे। इसके लिए सीबीएसई व भिवानी बोर्ड से टाईअप कर उच्चत्तर शिक्षा विभाग के पोर्टल पर बोर्ड की कक्षाओं का रोल नंबर डालते ही डाटा आसानी से फीड हो सके, लेकिन सीबीएसई की तरफ से उच्चत्तर शिक्षा विभाग के पोर्टल पर बोर्ड की कक्षाओं का रोल नंबर डालने पर डाटा अपलोड की सुविधा अभी तक नहीं दी है। जिससे विद्यार्थियों को कॉलेज में दाखिला लेने के लिए आवेदन करने में काफी समय लग रहा है।

भिवानी बोर्ड ने केवल बोर्ड की कक्षाओं का रोल नंबर डालते ही बोर्ड का परिणाम अपलोड होने की सुविधा दी है। भिवानी बोर्ड से 12वीं कक्षा करने वाले कई विद्यार्थियों ने अपने कैटेगरी बदलने के लिए उस समय प्रमाण पत्र जमा नहीं कराए थे। जिन्हें जरनल कैटेगरी में रखा गया, लेकिन अब उनमें से कई विद्यार्थियों ने कॉलेजों में दाखिला लेने से पहले बीसीए, एससी व अन्य कैटेगरी के प्रमाण पत्र बनवाकर दाखिला प्राप्त करना चाहते हैं, लेकिन उच्चत्तर शिक्षा विभाग की ओर से कैटेगरी बदलाव की कॉलेज के नोडल अधिकारियों को नहीं दी गई है। इसके लिए कॉलेजों में अभिभावक व विद्यार्थी शिकायत दे रहे हैं। जिन्हें उच्चत्तर शिक्षा विभाग को ई-मेल किया जा रहा है, लेकिन अभी तक इस समस्या का समाधान नहीं हो पाया है।

करनाल. पंडित चिरंजीलाल शर्मा महाविद्यालय में अभिभावक कैटेगरी चुनने की समस्या को कॉलेज के एडमिशन नोडल अधिकारी को बताते हुए।

विद्यार्थी रह सकते हैं स्कॉलरशिप से वंचित

पंडित चिंरजीलाल शर्मा महाविद्यालय में अभिभावक विनोद धीमान अपने दो बेटियों का दाखिला बीसीए कैटेगरी से कराना था, लेकिन दोनों छात्राओं की 12वीं कक्षा में जरनल कैटेगरी अनुसार परीक्षा दी थी। छात्राओं ने उस समय कैटेगरी का प्रमाण पत्र नहीं बनवाया था, लेकिन कॉलेज के दाखिले से पहले ऐसे कई छात्रों ने विभिन्न कैटेगरी के प्रमाण पत्र लेकर आ रहे हैं जो परीक्षा के समय में जरनल कैटेगरी से परीक्षार्थी हैं, लेकिन कैटेगरी में बदलाव न होने से विद्यार्थी स्कॉलरशिप व विभिन्न लाभ नहीं उठाए पाएंगे।

गलत रोल नंबर भरने की समस्या नहीं हो पा रही ठीक

ऑनलाइन दाखिला शुरू होने पर विद्यार्थी बाहर कैफे से व खुद ऑनलाइन आवेदन कर रहे हैं। विद्यार्थी से टॉप - पांच के नंबर यदि गलत भरे जाते व रोल नंबर 12वीं कक्षा की जगह 10वीं कक्षा का भरा जाता है उसके लिए विद्यार्थी या कॉलेज को बदलाव की कोई परमिशन नहीं दी है। कॉलेजों में ऐसी शिकायतें विद्यार्थी लेकर पहुंच रहे हैं, लेकिन उच्चत्तर शिक्षा विभाग की ओर से समस्याओं का निवारण करने के लिए अभी तक कोई परमिशन नहीं दी गई है।

विभाग ने अभी कोई परमिशन नहीं दी है


X
Karnal News - haryana news the problem of changing the category of online admission process in college
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना