• Home
  • Haryana News
  • Kharkhoda
  • अवैध वसूली से मिलेगी रेहड़ी संचालकों को राहत
--Advertisement--

अवैध वसूली से मिलेगी रेहड़ी संचालकों को राहत

खरखौदा शहर में रेहड़ी संचालकों को पंजीकरण करने का काम शुरू कर दिया हैं। पहले चरण में सभी रेहड़ी संचालकों के लाइसेंस...

Danik Bhaskar | Feb 05, 2018, 02:30 AM IST
खरखौदा शहर में रेहड़ी संचालकों को पंजीकरण करने का काम शुरू कर दिया हैं। पहले चरण में सभी रेहड़ी संचालकों के लाइसेंस बनाए जाएंगे। इस बारे में जल्द ही नगरपालिका मुनादी भी कराएगी। सभी रेहड़ी संचालकों को फोटोयुक्त लाइसेंस बनाया जाएगा। ताकि उनके नाम रेहड़ी खड़ी करने की जगह अलाट हो सके। संख्या के आधार पर स्थान तय किए जाएंगे अगर रेहड़ी संचालक कम हुए तो एक जगह सभी को स्थान दिया जाएगा। नहीं तो कई स्थानों पर लाइसेंस वाइज रेहड़ी संचालकों को जगह उपलब्ध करवाई जाएगी। शहर में सैकड़ों की संख्या में रेहड़ी संचालक ऐसे हैं, जो हजारों रुपए देकर दिल्ली व थाना कलां चौक के पास अपनी फल व सब्जियों की रेहड़ी खड़ी करते हैं और अपनी आजीविका कमाते हैं। ऐसे में दुकानदार रेहड़ी संचालकों से खरखौदा शहर में 1500 रुपए से लेकर 8 हजार रुपए तक की राशि किराए के रूप में अवैध वसूली करते हैं।


ये है पूरी प्लानिंग व योजना

नगरपालिका कार्यालय के मुताबिक शहर के अंदर अवैध रूप से फल, सब्जी व फास्ट फूड से संबंधित कई तरह की रेहड़ियां जगह-जगह पर खड़ी रहती है। जिससे मार्ग जाम रहता है और शहर में कूड़ा करकट फैलता है। जिससे शहर को स्वच्छ बनाए रखने में काफी दिक्कतें आती है। प्रदेश सरकार ने योजना बनाई है कि रेहड़ी संचालकों को स्पेशल जगह अलाट की जाए। ताकि सभी रेहड़ी संचालक अलाट हुई जगह पर ही अपनी रेहड़ी लगा सके। वोटर कार्ड व आधारकार्ड जिन रेहड़ी संचालकों के होंगे उन्हीं का लाइसेंस बनाया जाए।