• Home
  • Haryana News
  • Kharkhoda
  • नहर में डूबे नौवीं कक्षा के छात्र सन्नी का 22 घंटे बाद मिला शव
--Advertisement--

नहर में डूबे नौवीं कक्षा के छात्र सन्नी का 22 घंटे बाद मिला शव

शुक्रवार दोपहर को नौंवीं कक्षा का एग्जाम देने के बाद अपने दोस्तों के साथ खांडा-झरोठ मार्ग से गुजरने वाली एनसीआर...

Danik Bhaskar | Mar 18, 2018, 02:45 AM IST
शुक्रवार दोपहर को नौंवीं कक्षा का एग्जाम देने के बाद अपने दोस्तों के साथ खांडा-झरोठ मार्ग से गुजरने वाली एनसीआर वाटर चैनल नहर में नहाने गए 14 वर्षीय नौंवी कक्षा का छात्र सन्नी नहर में डूब गया। डरे सहमे साथी बच्चों ने कपड़े व साइकिल भी नहर में फेंक दिए। पुलिस व स्पेशल टीम की मदद से नहर में बहे सन्नी के शव को करीब 22 घंटे बाद नहर से बरामद किया।

इससे पहले ग्रामीणों ने मामले की शिकायत एसडीएम राकेश कुमार व थाना प्रभारी वजीर सिंह को दी। जिन्होंने मौके पर पहुंचकर स्थिति का मुआयना किया। फोन पर सूचना पाकर एनसीआर वाटर चैनल नहर का पानी कम करवाया व बच्चे की तलाश शुरू की। लापता सन्नी के पिता खांडा गांव निवासी धर्मेंद्र ने पुलिस को बताया कि वह मेहनत मजदूरी का काम करता है। उनका इकलौता लड़का सन्नी जो नौंवी कक्षा का छात्र है और करीब 14 वर्ष का है। देर शाम तक जब वह घर नहीं पहुंचा तो उसकी तलाश शुरू की। पड़ोस के साथी बच्चों ने बताया कि वह नहाने के लिए गया था, जो नहर में बह गया। पुलिस व अन्य ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर रस्सों व बलियों के सहारे छात्र के शव को तलाशने की कोशिश की। बाहर खड़े ग्रामीणों ने रस्से पकड़े जबकि गोताखोरों व कुशल ग्रामीणों ने तेज बहाव वाली गहरी एनसीआर वाटर चैनल नहर में जाकर शव की कई घंटे तक तलाश की। पहले तो बच्चे की साइकिल मिली। इसके थोड़ी देर बाद जहां से युवक बहा था उससे करीब 200 मीटर आगे सन्नी का शव बरामद हो गया। पुलिस ने शव का पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सोनीपत सिविल अस्पताल में भिजवा दिया। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

डरे सहमे बच्चों ने घर में भी नहीं बताया

सन्नी जब पानी में डूब गया था, उस समय बच्चे अगर राहगीरों व खेतों में काम करने वालों को सूचना देते तो सन्नी को बचाने की कोशिश की जा सकती थी। लेकिन बच्चे सहम गए थे। उन्होंने घर जाकर भी देर शाम तक किसी को नहीं बताया। जब सख्ती से बच्चों से पूछा तो बच्चों ने सन्नी के नहर में डूबने की बात बताई।