• Home
  • Haryana News
  • Kharkhoda
  • 10वीं की परीक्षा में प्रदेशभर में 329 मामले दर्ज, 1 केंद्र अधीक्षक, 4 सुपरवाइजर ड्यूटी से किए रिलीव
--Advertisement--

10वीं की परीक्षा में प्रदेशभर में 329 मामले दर्ज, 1 केंद्र अधीक्षक, 4 सुपरवाइजर ड्यूटी से किए रिलीव

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की सेकंडरी अंग्रेजी विषय की परीक्षा में नकल के 329 मामले दर्ज किए गए तथा ड्यूटी से...

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 02:50 AM IST
हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की सेकंडरी अंग्रेजी विषय की परीक्षा में नकल के 329 मामले दर्ज किए गए तथा ड्यूटी से कोताही बरतने पर प्रदेशभर में 01 केंद्र अधीक्षक एवं 04 सुपरवाइजर ड्यूटी से रिलीव किए गए।

बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह के उड़नदस्ते ने जिला रोहतक के 6 परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया गया तथा नकल के 5 केस बनाए। बोर्ड सचिव धीरेन्द्र खड़गटा के उड़नदस्ते ने महेंद्रगढ़, नांगल चौधरी स्थित परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया गया तथा नकल के 47 केस पकड़े। महेंद्रगढ़ डीसी, एसपी व एसडीएम के उड़नदस्तों ने भी परीक्षा केंद्रों पर छापे मारे गए। बाहरी हस्तक्षेप के चलते बोर्ड सचिव धीरेन्द्र खड़गटा के उड़नदस्ते ने महेंद्रगढ़ जिले के राकवमावि महेंद्रगढ़-01 (बी-01) व महेंद्रगढ़-02 (बी-02) तथा राकउवि बसई-2 परीक्षा केंद्र को राव जय राम वमावि बुंदेबाज नगर, बेरी (महेंद्रगढ़) में शिफ्ट किया गया है। महेंद्रगढ़ जिले के परीक्षा केंद्रों पर हो रहे बाहरी हस्तक्षेप के चलते 09 असामाजिक तत्वों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई है तथा नांगल चौधरी-5 पर दूसरे की जगह परीक्षा देने का केस पकड़ा, जिस पर एफआईआर दर्ज करवाई गई है। एसडीएम खरखौदा के उड़नदस्ते की सिफारिश पर रावमावि. खाण्डा-2 परीक्षा केंद्र को एसके वमावि खरखौदा-10 में बाहरी हस्तक्षेप के चलते तबदील कर दिया गया है। सहायक निदेशक (सेकंडरी) विशेष उडऩदस्ते ने रावमावि कायला परीक्षा केंद्र में परीक्षा ड्यूटी में कोताही बरतने के कारण सुपरवाइजर गोकलचंद एसएस अध्यापक, राउवि अजीतपुरा को रिलीव किया गया है। जिला प्रश्न-पत्र जींद उड़नदस्ते ने सुपरवाइजर राजकुमार संस्कृत अध्यापक को जींद-42 परीक्षा केंद्र से व सुश्री रीटा, प्राइमरी अध्यापिका व सुश्री ज्योति, टीजीटी अध्यापिका को जींद-41 परीक्षा केंद्र से रिलीव कर दिया गया है। डीईओ सोनीपत उड़नदस्ते ने रावमावि मनडोरा-01 (बी-01) पर नियुक्त केंद्र अधीक्षक को ड्यूटी में कोताही बरतने के कारण कार्यभार मुक्त किया गया है।