• Hindi News
  • Haryana
  • Kharkhoda
  • रामनवमी पर कन्या पूजन के बाद की मां भगवती की पूजा
--Advertisement--

रामनवमी पर कन्या पूजन के बाद की मां भगवती की पूजा

राई . राम नवमी पर लिवासपुर गांव में लगे भंडारे में प्रसाद ग्रहण करती कन्याएं। भास्कर न्यूज | राई राम नवमी की...

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2018, 02:50 AM IST
रामनवमी पर कन्या पूजन के बाद की मां भगवती की पूजा
राई . राम नवमी पर लिवासपुर गांव में लगे भंडारे में प्रसाद ग्रहण करती कन्याएं।

भास्कर न्यूज | राई

राम नवमी की कढ़ाई करने के बाद नवरात्र का पर्व रविवार को समाप्त हो गया। अंतिम दिन राई ब्लॉक के कई गांवों में भंडारे का आयोजन किया गया। कन्या पूजन के बाद मां भगवती की आराधना की गई। गढ़मिरकपुर घाट पर माता की प्रतिमा का विसर्जन भी किया गया।

लिवासपुर में प्रसिद्ध समाजसेवी रामअवतार गर्ग ने कहा कि लंका के राजा रावण को हराने के लिए भगवान राम ने मां दुर्गा की पूजा करने के लिए नवरात्र का उपवास रखा था। यहीं से नवरात्र के व्रत शुरू हुए थे। राम नवमी के दिन लिवासपुर गांव में भंडारे का आयोजन किया। मुख्य अतिथि उद्योगपति रामअवतार गर्ग ने भंडारे का आयोजन कराया। उद्योगपति रामअवतार गर्ग ने कन्या पूजन कर उनका सम्मान किया। इसी प्रकार बहालगढ़ गांव में भी नवमी के दिन मां की आराधना की गई। बहालगढ़ रोड पर काली माता मंदिर में भी भगवान की प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा हुई। इससे पहले जाट जोशी गांव में भी कलश यात्रा निकाली गई। गायत्री परिवार हरिद्वार के पंडित कृष्णचंद्र वशिष्ठ जाखाैली व नाथूपुर के पंडित सुखबीर ने कहा कि नवरात्र में माता रानी का व्रत रखने से विशेष फल मिलता है।

महागौरी की पूजा करने से संकट कट जाते हैं : डांगी

खरखौदा | आजाद हिंद देशभक्त मोर्चा के तत्वाधान में गांव फरमाना में चैत्र नवरात्रे की महाष्टमी पर रामनवमी का आयोजन हुआ। इस अवसर पर मोर्चे के संरक्षक आजाद सिंह डांगी ने कहा कि आज ही के दिन श्री राम ने लंका पर चढ़ाई करने से पहले माता के महागौरी रूप की पूजा की थी और मां ने इस रूप में प्रकट होकर उन्हें विजयश्री का आशीर्वाद दिया था। उन्होंने कहा कि महागौरी की पूजा से हर प्रकार के संकट कट जाते हैं। माता शनि के कष्टों से भी मुक्ति दिलाती है। उन्होंने कहा कि हमें श्री राम के गुणों को अपने जीवन में रखना चाहिए। इस अवसर पर मा. सतीश, रामचंद्र भौरिया, ईश्वर सिंह भौरिया, पूर्ण सिंह, रामनिवास, शीला, गीता, ललिता, बबीता, सरिता आदि मौजूद रहे।

X
रामनवमी पर कन्या पूजन के बाद की मां भगवती की पूजा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..