खरखौदा

  • Home
  • Haryana News
  • Kharkhoda
  • कस्बे में 15 में से 6 वार्ड होंगे आरक्षित 26 के बाद ड्रॉ निकलने की संभावना
--Advertisement--

कस्बे में 15 में से 6 वार्ड होंगे आरक्षित 26 के बाद ड्रॉ निकलने की संभावना

खरखौदा शहर की सरकार चुनने के लिए इस बार नगरपालिका ने वार्डबंदी कर 15 वार्ड फाइनल कर लिए हैं। इनकी जातीय गणना को...

Danik Bhaskar

Jan 24, 2018, 06:50 PM IST
खरखौदा शहर की सरकार चुनने के लिए इस बार नगरपालिका ने वार्डबंदी कर 15 वार्ड फाइनल कर लिए हैं। इनकी जातीय गणना को इलेक्शन कमीशन चंडीगढ़ एवं शहरी निदेशालय चंडीगढ़ भेजा गया है, ताकि इस दिशा में आगामी कार्रवाई की जा सके। नगरपालिका सूत्रों के मुताबिक जो डाटा भेजा गया है, उसमें कुल 15 वार्डों में से 6 वार्ड आरक्षित किए जाने हैं, जबकि 4 एससी वार्ड हैं। इसमें से दो वार्ड एससी महिला के लिए आरक्षित होने हैं। इसके अलावा दो वार्ड बीसी कैटेगरी के लिए आरक्षित हैं, जिसमें महिला एवं पुरुष दोनों चुनाव लड़ सकते हैं।

ये वार्ड हो सकते हैं आरक्षित : नगरपालिका सूत्रों के मुताबिक जिन 6 वार्डों को आरक्षित किया जाना है, उसमें एससी कैटेगरी में वे वार्ड शामिल किए जाते हैं, जिनकी जनसंख्या अन्य सभी वार्डों से प्रतिशत में ज्यादा हो। मौजूदा हाल में फिलहाल वार्ड संख्या 7, 8, 9 व 10 ऐसे वार्ड हैं, जिनकी जनसंख्या प्रतिशत अन्य वार्डों से ज्यादा है। वार्ड 7 में 36.67 प्रतिशत, 8 में 49.61 फीसदी, 9 में 53.32 और वार्ड 10 में 44.29 फीसदी आबादी एससी वर्ग से है। इसलिए हो सकता है ये ही वार्ड एससी वार्ड घोषित हों। इसी तरह से बीसी कैटेगरी में वार्ड-5 में 55.31 फीसदी व वार्ड-15 में 59.70 प्रतिशत लोग बीसी समुदाय से हैं। बीसी वर्ग के समुदाय अन्य वार्डों की अपेक्षा यहां ज्यादा है। इसलिए ये दोनों वार्ड बीसी कैटेगरी में शामिल हो सकते हैं। फाइनल निर्णय इलेक्शन कमीशन द्वारा जारी किया जाएगा।

जातीय जनगणना का डाटा इलेक्शन कमीशन को भेजा

खरखौदा. चुनाव की तैयारी के लिए तहसील पहुंचकर प्रमाण-पत्र बनवाते पूर्व पार्षद मैक्सीन व पीछे पूर्व चेयरपर्सन रिंपल देवी।

दस्तावेज पूरा करने में जुटे भावी प्रत्याशी

दूसरी तरफ खरखौदा में विभिन्न वार्डों से चुनाव लड़ने वालों की सुगबुगाहट तेज हो गई है। पहले चरण में वे अपने दस्तावेज पूरे करने में जुटे हुए हैं। जाति एवं रिहायशी प्रमाण-पत्र बनवा रहे हैं, अपने नाम जो बकाया है, उसे विभिन्न चुकता कर रहे हैं।

पुत्र व पुत्रवधुओं को उतारेंगे चुनावी मैदान में

खरखौदा नगरपालिका में कई ऐसे धुरंधर हैं, जो 10वीं और 8वीं कक्षा पास न होते हुए भी पहले नपा वार्ड से चुनाव जीतकर खरखौदा नगरपालिका में पार्षद ही नहीं, बल्कि नगरपालिका अध्यक्ष भी बन चुके हैं। लेकिन सरकार द्वारा इस बार एससी वर्ग के लिए 8वीं व सामान्य एवं बीसी वर्ग के लिए 10वीं कक्षा पास करना चुनाव के लिए अनिवार्य की गई है। ऐसे में लोग पुत्रों व पुत्रवधुओं को चुनाव मैदान में उतारने का मन बना रहे हैं।

शैक्षणिक योग्यता 8वीं और 10वीं पास


Click to listen..