• Home
  • Haryana News
  • Kharkhoda
  • दिल्ली और एनसीआर के अलग-अलग इलाकों में प्रदेश के 20 बदमाश सक्रिय
--Advertisement--

दिल्ली और एनसीआर के अलग-अलग इलाकों में प्रदेश के 20 बदमाश सक्रिय

क्रांति गैंग के मुखिया राजेश कंडेला और उसके राइट हैंड रोहतक के संजीत बिदरो सहित चार बदमाशों के खात्मे के बाद भी...

Danik Bhaskar | Jun 13, 2018, 02:25 AM IST
क्रांति गैंग के मुखिया राजेश कंडेला और उसके राइट हैंड रोहतक के संजीत बिदरो सहित चार बदमाशों के खात्मे के बाद भी दिल्ली पुलिस की मुश्किलें कम नहीं हुई है। अभी भी दिल्ली और एनसीआर के लोगों में हरियाणा के 20 गैंग के बदमाशों का खौफ है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इन गैंग के बदमाशों पर भी नकेल कसने की तैयारी शुरू कर दी है। वहीं, पुलिस जांच में सामने आया है कि संजीत बिदरो ने करीब छह महीने पहले द्वारका में भी एक व्यापारी की गोली मारकर हत्या की थी।

ये बदमाश बने सिरदर्द : दिल्ली पुलिस ने भले ही दो लाख के इनामी राजेश भारती, संजीत बिदरो और उमेश डॉन ककरौला का एनकाउंटर करके चैन की सांस ली हो। लेकिन अभी भी दिल्ली में हरियाणा के करीब बीस बदमाश वारदात कर रहे है। इनमें मुख्य तौर पर धर्मेंद्र उर्फ गोलू, प्रदीप सोलंकी, कुलदीप उर्फ हकला, सिकंदर उर्फ सनी डोगरा, जोगिंद्र उर्फ जग्गा, गोपाल, कपिल सांगवान उर्फ नंदू, हेमंत उर्फ प्रधान, चेतन, रविंद्र भोला, मंजीत सिंह, नफे सिंह उर्फ मंत्री, शक्ति, जोगिंद्र उर्फ भाेलू और अशोक शामिल हैं। इनमें से कई बदमाश दिल्ली के टॉप 10 की सूची में भी शामिल हैं। जबकि कुछ जेल में बंद हैं। वह जेल के अंदर से ऑपरेट कर रहे हैं। राजेश भारती और संजीत बिदरो का नाम भी दिल्ली के टॉप 10 बदमाशों की सूची में था।

50 हजार का इनामी कपिल सांगवान : दिल्ली से सटे बहादुरगढ़ का रहने वाला कपिल सांगवान दिल्ली पुलिस के लिए एक चुनौती बना हुआ है। कपिल हरियाणा के कुख्यात बदमाश ज्योति बाबा का छोटा भाई है और काफी समय से नजफगढ़ में रह रहा था। उस पर दिल्ली और हरियाणा में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं।

50 हजार का इनामी अमित गुलिया : बहादुरगढ़ के लाडपुर निवासी बदमाश अमित गुलिया और कपिल सांगवान का दोस्त है। नफे सिंह की हत्या में अमित की भी बड़ी भूमिका थी।

50 हजार का इनामी समुंदर खत्री : समुंदर खत्री ने 2010 में सोनीपत की एक हत्या की थी। इसमें उसे उम्र कैद की सजा हुई थी। उसके बाद वो पैरोल पर बाहर आया और फरार हो गया था। इसके बाद खत्री ने 2014 में दिल्ली के सिविल लाइंस थाने में एक कांस्टेबल की घर में घुसकर हत्या कर दी।

ये गैंग दिल्ली व एनसीआर में दे रहे वारदात को अंजाम

दिल्ली पुलिस के आंकड़ों पर नजर डाले तो फिलहाल दिल्ली और एनसीआर में हरियाणा के बदमाश सुकेश ढाकला झज्जर, मनोज झज्जर, अशोक नीलोठी, सुनील लाला माजरा, प्रदीप बबलू, हितेश रेवाड़ी, विनोद मिताथल भिवानी, अमिताफ उर्फ मोनू, जितेंद्र बेरी, अजय खरखौदा, कालू उर्फ कान्हा, परमिंद्र उर्फ टिंकू, जितेंद्र गोगी, ईश्वर उर्फ पाली, रिंकू सांपला, संजीव मोनू, सुरेश उर्फ चीता जींद, राजीव बॉबी, रवींद्र भोला और कर्मबीर का गैंग सक्रिय हैं। इन गैंग के बदमाश दिल्ली और एनसीआर के अलग-अलग इलाकों में वारदात कर रहे हैं।

बदमाश अजय 3 पिस्तौल व 5 कारतूस के साथ काबू

जींद | सीआईए ने सोमवार रात को रधाना गांव के पास से कुख्यात बदमाश खरकरामजी निवासी अजय उर्फ निलमा को गिरफ्तार किया है। पुलिस उसके कब्जे से तीन पिस्टल व 5 कारतूस भी बरामद किए हैं। आरोपी के खिलाफ पुलिस ने शस्त्र अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है। मंगलवार को पुलिस ने निलमा को कोर्ट में पेश कर एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। सीआईए इंचार्ज सुरेंद्र कुमार ने बताया कि अजय उर्फ निलमा पर जींद सिटी व सदर थाना में हत्या का प्रयास समेत 8 आपराधिक मामले भी दर्ज हैं। सीआईए इंचार्ज ने बताया कि पूछताछ में खुलासा हुआ है कि निलमा ने तोशाम के गांव खेड़ी जाटान निवासी मनोज दांगी के भाई को पैसों के लेनदेन के मामले में उस पर हमला करना था।