Hindi News »Haryana »Kharkhoda» मृत शिशु को गोद में लेकर निजी नर्सिंग होम के आगे बैठा पिता, किया प्रदर्शन

मृत शिशु को गोद में लेकर निजी नर्सिंग होम के आगे बैठा पिता, किया प्रदर्शन

गलत ढंग से डिलीवरी का आरोप लगाकर रविवार सुबह बरोणा के लोगों ने मटिंडू चौक स्थित एक नर्सिंग होम के बाहर हंगामा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 16, 2018, 02:35 AM IST

मृत शिशु को गोद में लेकर निजी नर्सिंग होम के आगे बैठा पिता, किया प्रदर्शन
गलत ढंग से डिलीवरी का आरोप लगाकर रविवार सुबह बरोणा के लोगों ने मटिंडू चौक स्थित एक नर्सिंग होम के बाहर हंगामा किया। बिजेंद्र का कहना है कि बच्चे को जबरदस्ती बाहर खींचने से उसके अंगों में खिंचाव आ गया और हड्डियां टूट गई, जिसके बाद स्थिति बिगड़ती देख नर्सिंग होम से उसके बच्चे को आनन-फानन में रेफर कर दिया। रविवार की सुबह बच्चे की इलाज के दौरान दिल्ली के पूठ खुर्द अस्पताल में उसकी मौत हो गई। रविवार सुबह 9 बजे बिजेंद्र अपनी प|ी व परिवार सदस्यों के साथ अपने नवजात बच्चे के शव को लेकर राधा स्वामी नर्सिंग होम पर पहुंचे। इस दौरान मृत नवजात के परिजनों ने खूब हंगामा किया और नवजात के शव को लेकर सड़क पर भी बैठ गए।

11 जुलाई को राधा स्वामी जच्चा-बच्चा केंद्र की महिला डाॅक्टर ने महिला की डिलीवरी की थी, जिसमें लड़के का जन्म हुआ था। लेकिन जन्म के दो घंटे बाद जब लड़का अपसेट दिखा तो उसे डाॅक्टर ने रेफर कर दिया था। जिसे परिजन दिल्ली के पूठ स्थित अस्पताल में लेकर गए। जहां पर रविवार को बच्चे को मृत घोषित कर दिया। मृत बच्चे को साथ लेकर पीड़ित पिता खरखौदा पुलिस स्टेशन में पहुंचा जहां पर पुलिस ने कहा कि उनकी कार्रवाई पूठ खुर्द अस्पताल से ही शुरू होनी थी। पुलिस का सहयोग नहीं मिला तो शिशु को लेकर परिजन मटिंडू चौक पर संबंधित निजी नर्सिंग होम के सामने बैठ गए और ग्रामीणों ने अस्पताल के सामने हंगामा किया। इसके बाद भी प्रशासन की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं हुई तो मृत शिशु को लेकर पीड़ित बिजेंद्र सोनीपत सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए पहुंचे। जहां से पुलिस को सूचना मिली। पुलिस माम ले की छानबीन में जुटी हुई है। रविवार होने के कारण शिशु का पोस्टमार्टम सोनीपत सिविल अस्पताल में नहीं हो सका। स्वास्थ्य विभाग को शिशु को अपने पास रख लिया है जिसका सोमवार को डाॅक्टरों के बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

खरखौदा. जच्चा-बच्चा केंद्र की डाॅक्टर पर लापरवाही का आरोप लगा मृत शिशु को गोद में लेकर मटिंडू चौक पर बैठा पिता।

डॉक्टर की लापरवाही मिली तो कार्रवाई होगी : एसएचओ

शिशु की मौत दिल्ली के पूठ खुर्द अस्पताल में हुई है, नियमों के मुताबिक वही से शिकायत दर्ज होनी थी। मृतक के पिता बिजेंद्र की शिकायत पुलिस ने ले ली है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अगर महिला डाक्टर की लापरवाही मिलती है तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर मामले की छानबीन की जाएगी।'-अजय धनखड़, एसएचओ खरखौदा।

शिशु की मौत लापरवाही से नहीं हुई : डॉ. तमन्ना

जिस दौरान अल्ट्रासाउंड कराके सुनीता व उसका पति बिजेंद्र आए तो उस दौरान बच्चे के पांव बाहर आए हुए थे। अगर इमरजेंसी डिलीवरी नहीं की जाती तो जच्चा व बच्चा दोनों के जीवन को रिस्क हो सकता था। इसलिए दंपती की सहमति से डिलीवरी की गई थी,लेकिन बच्चा थोड़ा अपसेट लग रहा था। इसलिए उसे बच्चों के डाॅक्टर के पास रेफर किया था। शिशु की मृत्यु लापरवाही के कारण नहीं बल्कि इत्फाकिया है। अगर उस दौरान डिलीवरी नहीं की जाती तो रिस्क ज्यादा बढ़ सकता था।' -डाॅ. तमन्ना, बीएएमएस, राधा स्वामी अस्पताल खरखौदा।

महिला डॉक्टर पर गलत ढंग से डिलीवरी करने का लगाया आरोप

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kharkhoda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×