Hindi News »Haryana »Kharkhoda» ओवरफ्लो होने के कगार पर प्रदेश की बाढ़ राहत 8 ड्रेन

ओवरफ्लो होने के कगार पर प्रदेश की बाढ़ राहत 8 ड्रेन

गोहाना व खरखौदा सहित विभिन्न इलाकों से गुजरने वाली प्रदेश की बाढ़ राहत ड्रेन क्रमांक 8 ओवरफ्लो होने के कगार पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 27, 2018, 02:35 AM IST

ओवरफ्लो होने के कगार पर प्रदेश की बाढ़ राहत 8 ड्रेन
गोहाना व खरखौदा सहित विभिन्न इलाकों से गुजरने वाली प्रदेश की बाढ़ राहत ड्रेन क्रमांक 8 ओवरफ्लो होने के कगार पर पहुंच गई है। बताया जा रहा है कि हांसी ब्रांच नहर का पानी इस ड्रेन में डाल दिया है। इससे ड्रेन में पानी की मात्रा अपेक्षाकृत बढ़ गई है ऊपर से क्षेत्र में 70 एमएम बारिश होने से खेतों का पानी भी ड्रेन में आ गया है। जिससे कंवाली-नरेला मार्ग पर मंडोरा-तुर्कपुर ड्रेन क्रमांक 8 के पुल की स्पोट ड्रेन के तेज बहावा में बह गई है। प्रशासन ने तुरंत संज्ञान लेते हुए कंवाली-नरेला मार्ग चौपहिया वाहनों के लिए बंद कर दिया है। आसपास के कई गांवों में हिदायत दी है कि इस मार्ग से न जाए। ड्रेनेज, सिंचाई व लोक निर्माण विभाग के अधिकारी निरंतर स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। हादसे की आशंका को भांपते हुए प्रशासन ने इस पुल पर पुलिस नाका भी लगा दिया है।

लोक निर्माण विभाग ने इस पुल को पहले से जर्जर व कंडम घोषित किया हुआ था। अब यहां पर भूमि का अधिक कटाव होने के कारण हादसे की आशंका बनी हुई है। पुल की जर्जर हालत को देखते हुए प्रशासन ने मंडोरा गांव व कंवाली से ही वाहनों को डायवर्ट किया है। वाहन अब वाया हलालपुर-सैदपुर व वाया फतेहपुर-रोहट से घुमाकर निकाले जा रहे हैं।

खरखौदा. ड्रेन में अधिक पानी आने से तुर्कपुर ड्रेन के जर्जर पुल में हुआ कटाव।

साथ में बन रहा है नया पुल

यह पुल काफी समय से जर्जर है। इसे नये सिरे से बनाने के लिए काम चल रहा है। ड्रेन में किसी नहर का पानी डाले जाने से ड्रेन ओवरफ्लो होने के कगार पर है। पुल की सपोट प्रभावित हो गई है। पुल पर कोई हादसा न हो इसको ध्यान में रखते हुए वाहनों को डायवर्ट किया जा रहा है। ड्रेनेज एवं सिंचाई विभाग के अधिकारी भी बनाए हुए हैं।'-जयप्रकाश गुलिया, एसडीओ लोक निर्माण विभाग, खरखौदा।

अभी ड्रेन की कैपेसिटी बहुत पीडब्ल्यूडी सुरक्षा इंतजाम करे

ड्रेन क्रमांक 8 की कैपिस्टी 7 हजार क्यूसिक पानी की है, जबकि अभी तो 2 हजार क्यूसिक पानी भी ड्रेन में नहीं आया है। जहां तुर्कपुर पुल पर प्रॉब्लम आई है वहां पुल लेवल में न होने के कारण है। लोक निर्माण विभाग पुल निर्माण के दौरान सुरक्षा इंतजाम पूरे रखता तो इस तरह की समस्या भी नहीं आती। वैसे पानी को नीचे से डायवर्ट करा दिया है।'-कैलाश चंद्र, एसडीओ, ड्रेनेज सोनीपत।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kharkhoda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×