--Advertisement--

थाना कलां की पंचायत ने किया प्रदर्शन

गुरुवार को क्षेत्र के थाना कलां गांव सरपंच बलराम व अन्य ग्रामीण बिजली कार्यालय में पहुंचे और बिजली निगम के सामने...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 02:40 AM IST
गुरुवार को क्षेत्र के थाना कलां गांव सरपंच बलराम व अन्य ग्रामीण बिजली कार्यालय में पहुंचे और बिजली निगम के सामने अपनी शिकायत रखी। ग्रामीणों ने बिजली निगम के कर्मचारियों पर ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि वे 5 हजार रुपए वार्षिक रिश्वत देकर खेतों की बिजली की बजाय सेटिंग कर गांव की अर्बन सप्लाई से अपने तार जोड़ लेते हैं। जिसके कारण न केवल गांव पर अनावश्यक लोड पड़ रहा है। वहीं दूसरी तरफ गांव में जिस ट्रांसफार्मर से पेयजल सप्लाई होता है वह खेतों में होने के कारण जल जाता है। जिससे गांव की पेयजल सप्लाई भी बाधित रहती है। जिससे गांव की कई बस्तियों में पेयजल सप्लाई भी नहीं हो रहा है। सरपंच बलराम, विनोद चौहान, विरेंद्र, सुरेंद्र, सुरजे, कमल, देवेंद्र, चिंटू, अजय, जुगल सिंह, भूलराम, लक्ष्मण, जगमेंद्र, प्रेम सिंह राकेश कुमार का कहना है कि उनके गांव के साथ काफी समय से पक्षपात हो रहा है। जो पेयजल ट्यूबवेल से संबंधित ट्रांसफार्मर से अवैध कनेक्शन जोड़ते हैं। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

ये है सारा मामला : खरखौदा में 132 केवीए के लिए मुफ्त में जमीन देने पर थाना कलां गांव को शहरी तर्ज पर बिजली दी हुई है। जबकि खेतों व ग्रामीण श्रेणी के अंतर्गत आते हैं। जिन्हें शहरी तर्ज की बजाय शेड्यूल के मुताबिक कम बिजली सप्लाई होती है।