Hindi News »Haryana »Kharkhoda» हत्या का कारण बच्चे का बुलट के सामने आना नहीं, पैसे का लेनदेन था, 3 गिरफ्तार

हत्या का कारण बच्चे का बुलट के सामने आना नहीं, पैसे का लेनदेन था, 3 गिरफ्तार

सेहरी में हुए प्रमोद हत्याकांड के तीनों आरोपियों अजय, राजकुमार व आशीष को पुलिस ने खांडा बाईपास चौक से एसआईटी व...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 08, 2018, 02:40 AM IST

हत्या का कारण बच्चे का बुलट के सामने आना नहीं, पैसे का लेनदेन था, 3 गिरफ्तार
सेहरी में हुए प्रमोद हत्याकांड के तीनों आरोपियों अजय, राजकुमार व आशीष को पुलिस ने खांडा बाईपास चौक से एसआईटी व सीआईए सोनीपत ने घेरकर गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपी हरिद्वार भागने की फिराक में थे। गिरफ्तार आरोपियों ने पूरी वारदात कबूल ली है। हत्या का कारण बच्चे का बुलट के सामने आना या बुलट मोटरसाइकिल से पटाखे छोड़ना नहीं बल्कि प्रमोद के साथ राजकुमार व अजय का पैसों का लेनदेन बताया है। फिलहाल तीनों आरोपियों को बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा और तीन दिन के पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा। गौरतलब है कि तीनों आरोपियों ने धोखे से प्रमोद को गाड़ी में बैठाकर ले गए थे और हत्या कर ईंट भट्‌ठे के पास फेंक दिया था।

खरखौदा. पुलिस गिरफ्त में सेहरी प्रमोद हत्याकांड के आरोपी।

यहां से खरीदा था देसी कट्‌टा

जिस अवैध पिस्तौल से प्रमोद की हत्या की गई थी। पुलिस के मुताबिक वह अवैध कट्‌टा खांडा गांव से खरीदा गया था। लेकिन जिस युवक ने यूपी से कट्‌टा लाकर राजकुमार को दिया था। उस खांडा गांव निवासी की मौत हो चुकी है।

तीनों को रिमांड पर लेगी एसआईटी

आरोपियों को पुलिस बुधवार को न्यायालय में पेश करेगी और तीन दिन का पुलिस रिमांड पर लेगी। ताकि जिस गाड़ी में सेहरी गांव निवासी प्रमोद की हत्या हुई थी उसे व अवैध पिस्तौल की रिकवरी की जा सके, जिससे पिस्तौल खरीदा था, उसकी मौत भी हो चुकी है।’-अजय मलिक, एसआईटी इंचार्ज, खरखौदा।

हत्या से पहले यह हुई थी बात

एसआईटी इंचार्ज अजय मलिक ने कहा कि आरोपी अजय व राजकुमार का मृतक प्रमोद के साथ पैसों का लेन-देन था। अजय दोपहर दिन में करीब 1 बजे दुकान पर गया था और प्रमोद से कहा था कि वह एक दिन आराम से बैठकर हिसाब-किताब कर लें। ताकि ये क्लियर हो सके कि कितने पैसे का लेन-देन है। अजय का कहना है कि प्रमोद ने ऐसा करने से मना कर दिया। जिसे राजकुमार को बताया तो उसे गुस्सा आया और राजकुमार ने कहा कि वह प्रमोद को देख लेगा। जिसके बाद शाम को प्रमोद की हत्या को अंजाम दिया।

हरिद्वार भागने की फिराक में थे आरोपी

सेहरी हत्याकांड के तीनों आरोपी हरिद्वार भागने की फिराक में थे और बाईपास के पास खांडा रोड पर किसी वाहन के इंतजार में थे। एन वक्त पर सोनीपत सीआईए टीम व खरखौदा एसआईटी को इसकी भनक लग गई। दोनों टीमों ने बाईपास खांडा चौक के पास तीनों आरोपियों को घेर लिया। आरोपियों ने भागने का प्रयास भी किया। लेकिन एसआईटी व सीआईए टीम ने तीनों को मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kharkhoda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×