Hindi News »Haryana »Kharkhoda» हाईकोर्ट के आदेशों पर चुनाव चिह्न अलाॅट वार्ड 7 के चुनावी मैदान में अब 3 प्रत्याशी

हाईकोर्ट के आदेशों पर चुनाव चिह्न अलाॅट वार्ड 7 के चुनावी मैदान में अब 3 प्रत्याशी

रिटर्निंग अधिकारी ने प्रत्याशी के पक्ष को नजरअंदाज किया तो प्रत्याशी ने हाईकोर्ट में अपील करके अपना पक्ष सुनने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 11, 2018, 02:45 AM IST

हाईकोर्ट के आदेशों पर चुनाव चिह्न अलाॅट वार्ड 7 के चुनावी मैदान में अब 3 प्रत्याशी
रिटर्निंग अधिकारी ने प्रत्याशी के पक्ष को नजरअंदाज किया तो प्रत्याशी ने हाईकोर्ट में अपील करके अपना पक्ष सुनने के लिए अधिकारियों को आदेश कराके रद्द नामांकन को बकाया भरने के बाद प्रत्याशी चुनाव लड़ने का अधिकार मिल गया है। रात 12 बजे अधिकारियों प्रत्याशी को चुनाव चिन्ह अलाट किया। जिसके बाद वार्ड संख्या 7 में अब दो प्रत्याशियों की बजाय 3 प्रत्याशी हो गए हैं। जिनमें अशोक कुमार, मैक्सीन व डाॅ. संदीप कुमार है।

उल्लेखनीय है कि नगरपालिका संबंधी नो-ड्यूज होने के बावजूद भी करीब करीब 25 वर्ष पहले का बकाया बताकर वार्ड संख्या 7 से प्रत्याशी मैक्सीन का नामांकन रद्द करने के मामले में मैक्सीन ने मामला हाईकोर्ट में ये कहते हुए लगा दिया था कि उसके साथ ज्यादत्ती हुई है, पक्षपात कर उनका नामांकन रद्द किया गया है जबकि उनके पास नो-ड्यूज भी भा और छंटनी के दौरान बताए गए बकाया को जमा कराने के लिए भी तैयार थे। लेकिन आरओ ने इस मामले में एकतरफा कार्रवाई कर दी थी। हाईकोर्ट जस्टिस महेश ग्रोवर व राजबीर सहरावत ने मामले में वादी को सही मानते हुए सरकार को इस मामले में नोटिस जारी कर आदेश दिए थे कि इस मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए वादी को बकाया बताया जाए अगर व बकाया जमा कराने के लिए तैयार है तो उसका बकाया जमा करवाया जाए। आदेश में ये भी स्पष्ट आदेश थे कि जिला चुनाव अधिकारी इस मामले की जांच करके 10 मई 2018 को ही रिपोर्ट जमा कराए। जिसपर तत्काल कार्रवाई करते हुए जिला उपायुक्त विनय सिंह, आर.ओ कम एसडीएम ने रात्रि 12 बजे तक हाईकोर्ट के आदेशों के मुताबिक कार्रवाई करते हुए चुनाव चिन्ह अलाट किया और बकाया जमा कराके विवाद को समाप्त किया।

खरखौदा. प्रत्याशी मैक्सीन को चुनाव चिह्न देते आरओ कुशल कटारिया व अन्य।

जांच के लिए सोनीपत से भी मंगवाया गया रिकाॅर्ड

हाईकोर्ट के आदेशों के बाद जिला उपायुक्त विनय सिंह देर रात्रि को खरखौदा पहुंचे और करीब रात्रि को पौने 12 बजे तक प्रत्याशी के नामांकन रद्द करने के मामला का निपटान किया। इसके लिए रिकाॅर्ड नहीं मिला तो सोनीपत जिला मुख्यालय से दो दशक पहले का रिकाॅर्ड मंगवाया और रिकाॅर्ड के हिसाब से बकाया जो कि करीब 20 हजार रुपए जमा कराके प्रत्याशी को चुनाव चिन्ह दिए जाने की प्रक्रिया रात्रि को ही शुरू की। संबंधित वार्ड 7 के बेल्ट पेपर दोबारा से चंडीगढ़ से प्रकाशित करने की दिशा में भी कार्रवाई की गई। रात्रि को करीब साढ़े 11 बजे नपा कार्यालय खुलवाकर पीओएस मशीन मंगवाकर ऑनलाइन माध्यम से बकाया वसूला गया।

मृतक मतदाताओं के नहीं डल सकेंगे वोट

खरखौदा | 13 मई को खरखौदा नगरपालिका के सभी 13 वार्डों में चुनाव होने हैं, जबकि दो वार्डों वार्ड 8 व 12 में सर्वसम्मति बन चुकी है। खरखौदा शहर में जो जिस नगरपालिका की मतदाता सूची से चुनाव हो रहे हैं उस मतदाता सूची में सैकड़ों नाम ऐसे हैं जिनका निधन हो चुका है और उनका नाम अभी भी मतदाता सूची में दर्ज है, हटाया नहीं गया है। चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों की इन मतों पर पूरी नजर है और उन्हें आशंका है कि ये वोट भी पोल हो सकती हैं। क्योंकि नगरपालिका चुनाव में प्रत्याशी के लिए एक-एक वोट की कीमत होती है, व कई वार्डों में हार का अंतर भी बेहद कम होता है। ऐसे में स्वर्ग से आकर वोट डालने वालों के की रोकथाम के लिए प्रत्याशी अपने स्तर पर एक सूची बना रहे हैं। ताकि उनके ऐजेंट को ज्ञात हो सके कि ये मृतक मतदाता की वोट कोई बोगस पोल तो नहीं कर रहा। इस बारे में कई वार्डों से नपा सचिव को इसकी शिकायत भी की गई थी, लेकिन मतदाता सूची से उनका नाम अभी तक नहीं हटाया गया है।

मतदाता सूची से अगर मृतकों का वोट अभी तक नहीं कटवाया गया है, तो मृतकों की सूचना देकर उनके नाम कटवाए जा सकते हैं। फिर भी किसी प्रत्याशी के पास मृतक का रिकार्ड है कि उसका निधन हो चुका है और वोट अभी भी है तो ऐसी वोट को पोल होने से रोका जाएगा। जो भी युवक मृतक के स्थान पर वोट डालने आता है, उसकी पहचान कर उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी।’-राजेंद्र प्रसाद, सचिव नगरपालिका खरखौदा।

वार्ड संख्या 7 से एक प्रत्याशी ने उनका नामांकन रद्द होने के मामले में माननीय हाईकोर्ट में चुनौती थी, हाईकोर्ट के आदेशों के बाद मामले की जांच की गई। पुराने बकाया का विवरण निकालकर जो प्रत्याशी पर बकाया बनता था वह जमा करवा लिया है। जिसके बाद प्रत्याशी चुनाव लड़ने के लिए पात्र हो गया। तो उन्हें चुनाव प्रक्रिया का हिस्सा मानते हुए उन्हें चुनाव चिन्ह अलाट कर दिया है।’-विनय सिंह, डीसी, सोनीपत।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kharkhoda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×