• Hindi News
  • Haryana
  • Kharkhoda
  • ‘इंद्रियों को भगवान के चरणों में लगाने से होता है कल्याण’
--Advertisement--

‘इंद्रियों को भगवान के चरणों में लगाने से होता है कल्याण’

सैनी चौपाल में श्रीमद्‌भागवत कथा के दौरान कथा वाचक रविकांत शास्त्री ने श्रद्धालुओं को कहा कि मनुष्य को कभी भी...

Dainik Bhaskar

Jun 07, 2018, 02:45 AM IST
‘इंद्रियों को भगवान के चरणों में लगाने से होता है कल्याण’
सैनी चौपाल में श्रीमद्‌भागवत कथा के दौरान कथा वाचक रविकांत शास्त्री ने श्रद्धालुओं को कहा कि मनुष्य को कभी भी अंहकारी नहीं होना चाहिए। अहंकार विनाश का कारण बनता है। सदैव प्यार प्रेम एवं भाईचारे के साथ जीवन व्यतीत करना चाहिए। मनुष्य को हमेशा सच्चाई के रास्ते पर चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि ध्रुव भक्त ने निष्ठा व श्रद्धा से भक्ति करके भगवान को प्रसन्न किया था। भगवान शंकर ने राजा दक्ष का अहंकार यज्ञ विध्वंस करके किया था। इसलिए मनुष्य को कभी भी अहंकारी नहीं होना चाहिए। कपिल देवहूति संवाद में बताया कि अपनी इंद्रियों व मन को भगवान के चरणों में लगाना चाहिए, जिससे हमारे हृदय में भगवान की भक्ति जागृत हो और जो हमारे पापों का शयन अर्थात नाश कर दे। जीव अपने कर्मों द्वारा ही सुख-दुख व देह प्राप्त करता है। भगवान की भक्ति के शिवाय जीव का कोई आश्रय नहीं है। इस दौरान उन्होंने भगवान कृष्ण के भजन सुनाए, जिनमें पहला भजन मेरा दिल तुझ पर कुर्बान मुरलिया वाले रे, मैं तो तेरा एक दीदार चाहूं दीवाना तेरा प्यार चाहूं, अब तो हो जा मेहरबान मुरलिया वाले रे सुनाया। इस अवसर पर श्रद्धालु काफी संख्या में मौजूद रहे।

खरखौदा. श्रीमद्‌भागवत कथा सुनाते रविकांत व रसपान करते श्रद्धालु।

महिलाओं ने निकाली कलश यात्रा

गोहाना | खानपुर कलां गांव में बाबा रूपराम वाली समाधि पर हनुमान जयंती मनाई जाएगी। बुधवार को गांव की महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली, जिसमें महिलाओं ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। महिलाओं ने कलश के साथ गांव की परिक्रमा की। डेरा सेवक डॉ. नफे सिंह ने बताया कि प्रत्येक वर्ष समाधि पर हनुमान जयंती मनाई जाती है। इसी के चलते बुधवार को गांव की महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली। गुरुवार को भंडारे का आयोजन किया जाएगा। प्रसाद ग्रहण करने के लिए गांव के अलावा आसपास गांवों के ग्रामीण पहुंचेंगे। उन्होंने बताया कि करीब सात वर्ष पहले मेहंदीपुर धाम से खानपुर कलां गांव स्थित मंदिर में अखण्ड ज्योत को लाया गया था, जो आज भी बाबा रूपराम डेरा पर स्थित हनुमान मंदिर में जल रही है।

X
‘इंद्रियों को भगवान के चरणों में लगाने से होता है कल्याण’
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..