Hindi News »Haryana »Kharkhoda» रंजिश व गैंगवार : मुनिया ने भाई खोया तो रवि उर्फ लांबा ने खोया पिता

रंजिश व गैंगवार : मुनिया ने भाई खोया तो रवि उर्फ लांबा ने खोया पिता

बरोणा गांव में रविवार को बेटे की रंजिश में उसका पिता बली चढ़ गया। जबकि करीब 7 महीने पहले इस तरह से भाई की रंजिश में भाई...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 09, 2018, 02:45 AM IST

रंजिश व गैंगवार : मुनिया ने भाई खोया तो रवि उर्फ लांबा ने खोया पिता
बरोणा गांव में रविवार को बेटे की रंजिश में उसका पिता बली चढ़ गया। जबकि करीब 7 महीने पहले इस तरह से भाई की रंजिश में भाई को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था। रविवार को मरने वाले रवि उर्फ लांबा के पिता अतर सिंह व दिसंबर में मरने वाले मुनिया के भाई दिनेश का कोई कसूर नहीं था। बताया जाता है मुनिया के भाई दिनेश की हत्या धोखे में हुई थी। आरोपी मुनिया को मारने के लिए आए थे और वे गलती से दिनेश को मारकर चले गए थे। जो भी हो इस गांव के ही दो लड़कों की मामूली कहासुनी के कारण जो रंजिश बनी है, उससे दो बेकसूर व्यक्तियों की हत्या हो चुकी है।

थाना प्रभारी वजीर सिंह का कहना है कि दिसंबर महीने में कुछ हमलावरों ने बरोणा गांव में मुनिया के भाई दिनेश की गोली मारकर हत्या कर दी थी और मुनिया की मां भी घायल हुई थी। जिसके बाद मुनिया के भाई व मां काे पुलिस ने सिक्योरिटी भी दी हुई थी। दिनेश हत्याकांड में पुलिस ने रवि उर्फ लांबा को षडयंत्र की धारा-120बी में गिरफ्तार किया था और जब उससे पुलिस ने पूछताछ की थी तो उसने वारदात कबूल करते हुए पुलिस को बताया था कि हमला उसी ने करवाया है। रविवार को हुई रवि उर्फ लांबा के पिता अतर सिंह की हत्या को मृतक के परिजन इसी रंजिश से जोड़कर देख रहे हैं और मुनिया पर भी हत्या कराने का आरोप लगाया है। पुलिस के मुताबिक मुनिया पर शस्त्र अधिनियम के तहत मुकद्दमा था, जिसमें मुनिया बरी हो चुका है। जबकि लांबा पर दिल्ली व हरियाणा में कई मुकद्दमे चले हुए हैं।

जेल से हुई थी मुनिया व लांबा की आपसी रंजिश

पुलिस के मुताबिक मुनिया व लांबा दोनों बरोणा गांव के निवासी हैं और एक-दूसरे के परिवार को अच्छे से जानते हैं। दोनों में आपसी रंजिश गांव में नहीं बल्कि जेल में हुई थी। दोनों अलग-अलग गैंग से जुड़े होने के कारण इनकी जेल में ही आपसी कहासुनी के बाद रंजिश बढ़ी है, जो करीब डेढ़ वर्ष पुरानी है।

खरखौदा. हत्या मामले में कार्रवाई करती पुलिस।

दहिया खाप करेगी सुलह एवं भाईचारे के प्रयास

दहिया खाप के प्रधान सुरेंद्र दहिया का कहना है कि इस तरह से रंजिशन परिवारों को काफी नुकसान हो रहा है। जल्द ही पंचायती व्यक्तियों की कमेटी बनाकर पंचायती तौर पर क्षेत्र के विभिन्न गांवों में बढ़ रही इस तरह की रंजिशों को समाप्त करने के लिए एक विशेष मुहीम चलाई जाएगी। जिसमें क्षेत्र के मौजिज लोगों की भागेदारी कराई जाएगी।' -सुरेंद्र बानिया, प्रधान दहिया खाप।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kharkhoda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×