खरखौदा

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Kharkhoda
  • पिता ने डॉक्टर बनाने के लिए बेटे को भेजा था, कोटा से आया शव
--Advertisement--

पिता ने डॉक्टर बनाने के लिए बेटे को भेजा था, कोटा से आया शव

खरखौदा| दिल्ली के होटल में काम करने वाले सैदपुर गांव के राजेश व आंगनबाड़ी वर्कर सुनीता ने अपने बेटे अभिषेक को...

Dainik Bhaskar

Aug 05, 2018, 02:50 AM IST
खरखौदा| दिल्ली के होटल में काम करने वाले सैदपुर गांव के राजेश व आंगनबाड़ी वर्कर सुनीता ने अपने बेटे अभिषेक को डाॅक्टर बनाने के लिए सपना संजोया और जैसे-तैसे भारी भरकम रकम एकत्रित कर 17 वर्षीय अभिषेक का दाखिला एमबीबीएस के लिए इंट्रेंस टेस्ट की तैयारी के लिए कोटा शहर में स्थित एक इंस्टीट्यूट में कराया था। उस बेटे का शव एक महीने बाद गांव में पहुंचा है।

सरपंच धर्मेंद्र ने बताया कि राजेश और सुनीता ने बड़ी मेहनत से अपने बड़े बेटे को डाॅक्टर बनाने के लिए उसका राजस्थान के कोटा शहर में स्थित एक इंस्टीट्यूट में दाखिला दिलाया था। ताकि वहां प्रशिक्षण प्राप्त कर इंट्रेस टेस्ट पास करके एमबीबीएस में दाखिला ले सके। कोटा में बेटे की पढ़ाई अच्छे से हो इसके लिए परिवार ने पूरी व्यवस्थाऐं की थी। मां-बाप राजस्थान के कोटा में जाकर उसके हॉस्टल, पढ़ाई व अन्य जरूरत का सामान उपलब्ध कराया था। परिजनों ने जब कोटा जाकर तलाश की तो ढूंढते-ढूंढते उन्हें पता चला कि एक लड़के का शव शहर के किसी अस्पताल में रखा हुआ है।। शव को पहचानते ही मां-बाप के सारे सपने टूट गए।

X
Click to listen..