• Hindi News
  • Haryana
  • Kharkhoda
  • मुख्य लाइन का एक सीवर पहले ही दे चुका है जवाब, अब दूसरा भी धंसा
--Advertisement--

मुख्य लाइन का एक सीवर पहले ही दे चुका है जवाब, अब दूसरा भी धंसा

दो दिन में 105 एमएम बारिश होने से बढ़े पानी के दबाव में खरखौदा मटिंडू मार्ग पर दबाई गई सीवरेज लाइन का एक मैनहाेल जवाब...

Dainik Bhaskar

Jul 28, 2018, 02:55 AM IST
मुख्य लाइन का एक सीवर पहले ही दे चुका है जवाब, अब दूसरा भी धंसा
दो दिन में 105 एमएम बारिश होने से बढ़े पानी के दबाव में खरखौदा मटिंडू मार्ग पर दबाई गई सीवरेज लाइन का एक मैनहाेल जवाब दे गया और उसकी मिट्‌टी धंस गई। जिससे सीवरेज लाइन ठप हो गई है। इससे पहले बाईपास के पास स्थित अंतिम मैनहाेल पहले से ही प्रभावित था। अब एक और मैनहाेल प्रभावित होने से पानी निकासी समस्या बढ़ सकती है। क्योंकि शहर का बरसाती पानी अब जोहड़ों में डाला जा रहा है, जिससे जोहड़ ओवरफ्लो होने से बस्तियों में पानी घुस सकता है।

खरखौदा में अब तक 152 एमएम बारिश दर्ज : सीजन के दौरान अब तक खरखौदा शहर में कुल करीब 152 एमएम बारिश दर्ज की जा चुकी है। जबकि दो दिनों में हुई कुल 105 एमएम बारिश होने से ब्राह्मण मोहल्ला, वार्ड संख्या 13, वार्ड 3, वार्ड 4 सहित कई बस्तियों में पानी गली व घर में इसलिए घुस गया कि वहां पर जोहड़ व नाले बैक मार गए। जिसका खामियाजा वार्ड वासियों को भुगतना पड़ा।

खरखौदा. मैनहोल धंसने से मटिंडू मार्ग पर सूचनार्थ लगाई गई टिन व कांटे, ताकि हादसा न हो।

लाखों खर्च के बाद भी पानी निकासी चौपट

खरखौदा में पानी निकासी के नाम पर हर वर्ष नालों की सफाई व सीवरेज मैनहोल की सफाई पर लाखों रुपए की राशि खर्च की जाती है। लेकिन खरखौदा में पानी निकासी हर वर्ष चौपट हो रही है। क्योंकि आज भी खरखौदा शहर में नालों का लेवल ड्रेन तक मानकों के अनुरूप नहीं है। पानी निकासी जोहड़ों पर ही सीमित है।

अब आगे क्या? : बारिश के पानी से जोहड़ अपनी क्षमता के मुताबिक भरे गए हैं और बारिश आते ही आसपास की बस्तियों में पानी घुस सकता है। जन स्वास्थ्य विभाग ने पानी निकासी के लिए सीवरेज लाइन में पंप सेट लगाकर पानी को मटिंडू मार्ग पर जोहड़ में डालने का काम शुरू कर दिया है।

ठेकेदार को दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए


X
मुख्य लाइन का एक सीवर पहले ही दे चुका है जवाब, अब दूसरा भी धंसा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..