• Home
  • Haryana News
  • Kharkhoda
  • केएमपी का काम अंतिम चरण में, कनेक्टिविटी हुई पूरी, अगस्त में उद‌्घाटन होने की उम्मीद
--Advertisement--

केएमपी का काम अंतिम चरण में, कनेक्टिविटी हुई पूरी, अगस्त में उद‌्घाटन होने की उम्मीद

135 किलोमीटर लंबे कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे अब अगस्त में पूरा होने वाला है। करीब 18 वर्ष बाद यह एक्सप्रेस वे...

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 03:05 AM IST
135 किलोमीटर लंबे कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे अब अगस्त में पूरा होने वाला है। करीब 18 वर्ष बाद यह एक्सप्रेस वे जनता के सुपुर्द होगा। इस मार्ग का काम अब तेजी से चला हुआ है। हर जिले के पाॅइंट पर काम चला हुआ है। कुंडली से मानेसर करीब 80 किलोमीटर मार्ग की कनेक्टिविटी हो चुकी है। मार्ग सौंदर्यीकरण व मार्ग को अंतिम रूप देने व टोल बूथ लगाने की कार्रवाई चल रही है। ताकि अगस्त महीने में हर हाल में केएमपी को जनता के सुपुर्द किया जा सके।

कुंडली से मानेसर तक करीब 80 किलोमीटर की दूरी में 7 एंट्री एवं एग्जिट पाॅइंट छोड़े गए हैं, जिसमें हर पाॅइंट पर टोल बूथ स्थापित किए हैं। सभी नेशनल हाईवे व स्टेट हाई-वे क्रॉसिंग पर एंट्री एवं एग्जिट पाॅइंट लगाए गए हैं। जिनमें कुंडली की तरफ से पहला कुंडली, दूसरा खरखौदा-पिपली, तीसरा औसादा, चौथा झज्जर-बहादुरगढ़ पांचवा बादली , छठा फरुखनगर, व सातवां पटोदी रोड़ पर लगाए जाएंगे। इन इन सभी एंट्री एवं एग्जिट पाॅइंट पर टोल प्लाजा भी बनाए जाने हैं।

कुंडली से पलवल तक बनेंगे 7 टोल, 7 एंट्री और एग्जिट पाॅइंट

केएमपी से पहले बाई ओर टोल स्थापित किया

केएमपी के पिपली एंट्री एवं एग्जिट पाॅइंट पर जो टोल प्लाजा लगाने का डिजाइन फाइनल हुआ है, उसके मुताबिक खरखौदा से पिपली क्रास करते ही केएमपी से पहले बाई ओर टोल स्थापित किया गया है। जहां पर एंट्री संबंधित पर्ची मिलेगी और एग्जिट के समय पैसों की अदायगी होगी। इस टोल बूथ से करीब 500 मीटर दूर अंडरपास क्राॅस करते हुए मानेसर की तरफ केमएपी के एंट्री होगी जबकि बगैर अंडरपास किए कुंडली की तरफ सीधे मार्ग पर चढ़ा जाएगा। इसी तरह से कुंडली के तरफ से आने वाले वाहनों को अगर पिपली में उतरना है कि बाई ओर उतरकर अंडरपास के नीचे से आना होगा और मानेसर की तरफ से आने वाले वाहनों को पिपली में उतरने के लिए केएमपी के बाई तरफ से सुविधानुसार रोड बनाई गई है। टोल के बाद एंट्री एवं एग्जिट सीधे खरखौदा-दिल्ली मार्ग पर होने से सड़क दुर्घटनाएं भी बढ़ सकती हैं। टोल के बाद एंट्री एवं एग्जिट प्वाइंट में दूरी बनाई जानी चाहिए थी।

खरखौदा. कुंडली पलवल एक्सप्रेस वे पर पिपली में बनने वाला टोल प्लाजा का डिजाइन।

अगस्त तक हर हाल में पूरा होगा काम : जगभूषण


भाजपा पार्टी ने समान रूप से विकास को महत्व दिया : राजीव