• Home
  • Haryana News
  • Kharkhoda
  • बिजली कटों से परेशान ग्रामीणों ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन
--Advertisement--

बिजली कटों से परेशान ग्रामीणों ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

खरखौदा . अर्बन से ग्रामीण तर्ज पर बिजली करने के विरोध में एसडीएम को ज्ञापन देने आए थाना कलां गांव के ग्रामीण।...

Danik Bhaskar | Apr 29, 2018, 03:30 AM IST
खरखौदा . अर्बन से ग्रामीण तर्ज पर बिजली करने के विरोध में एसडीएम को ज्ञापन देने आए थाना कलां गांव के ग्रामीण।

अारोप, निगम अर्बन तर्ज पर दे रहा है बिजली

भास्कर न्यूज| खरखौदा

थाना कलां गांव के ग्रामीणों को गर्मी का सीजन शुरू होते ही बिजली के अवैध कटों का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों का कहना है कि पूरा वर्ष 2001 से उनके गांव में बिजली अर्बन तर्ज पर दी जाती रही है, लेकिन गर्मी के सीजन में हर बार बिजली कटौती की जाती है। मौजूदा हाल में भी थाना कलां गांव की बिजली ग्रामीण तर्ज पर की गई है। जिसके कारण ग्रामीणों में गहरा रोष व्याप्त है।

गांव पंचायत प्रधान बलराम दहिया, आनंद, रमेश, जसबीर, बिट्टू,नंदराम, लोकेश का कहना है कि उनके गांव वर्ष 2001 में पंचायत ने बिजली निगम को मुफ्त में 55 कनाल एक मरला जमीन दी थी, जिसमे शर्त थी कि गांव को अर्बन तर्ज पर बिजली मुहैया कराई जाएगी व ग्रामीण अर्बन तर्ज पर ही बिजली का बिल जमा कराएंगे। जिसके तहत गांव को पिछले कई वर्षों से अर्बन तर्ज पर बिजली उपलब्ध होती आ रही और ग्रामीण अर्बन तर्ज का बिजली बिल भी जमा कराते रहे, लेकिन वर्ष 2017 में यह शेड्यूल बिजली निगम ने बदल दिया और बिजली साढ़े 16 घंटे कर दी जो कि अब 2018 में यह बिजली केवल रुरल के हिसाब से कर दी। मौजूदा हाल में ग्रामीण अर्बन तर्ज पर बिल चुकता कर रहे हैं। ग्रामीणों ने एसडीएम कुशल कटारियों को ज्ञापन देकर मांग की है कि उनके गांव के साथ इस तरह का पक्षपात न किया जाए। ग्रामीणों में इसे लेकर गहरा रोष व्याप्त है। बिजली निगम के इस मनमाने व्यवहार को लेकर थाना कलां गांव के ग्रामीण आंदोलन भी कर सकते हैं और इसकी जिम्मेवारी प्रशासन की होगी। ग्रामीण पिछले 2001 वर्षों से शहरी तर्ज पर बिजली बिल भर रहे हैं, लेकिन शहरी तर्ज की सुविधाएं नहीं मिल रही है। ग्रामीणों ने एसडीएम से मांग की है कि जल्द ही इस दिशा में तेजी से कार्रवाई की जाए।