• Home
  • Haryana News
  • Kharkhoda
  • सरपंच की आरटीआई लगाने वाले का समर्थन करने पर की थी आशीष की हत्या, स्विफ्ट कार में थे हमलावर
--Advertisement--

सरपंच की आरटीआई लगाने वाले का समर्थन करने पर की थी आशीष की हत्या, स्विफ्ट कार में थे हमलावर

रामपुर गांव में जिम में रविवार की शाम को हुई आशीष की हत्या के आरोपी स्विफ्ट कार में सवार होकर आए थे, जो वारदात को...

Danik Bhaskar | Jun 26, 2018, 02:35 PM IST
रामपुर गांव में जिम में रविवार की शाम को हुई आशीष की हत्या के आरोपी स्विफ्ट कार में सवार होकर आए थे, जो वारदात को अंजाम देकर उसी कार से फरार हो गए। मामले को सरपंच के खिलाफ आरटीआई लगाने से जोड़ा जा रहा है। 12 जून काे गांव के ही अारटीअाई कार्यकर्ता रामअवतार को भी कार्यालय से बाहर बुलाकर गोली मारी थी जिसका पीजीआई में इलाज चल रहा है। मृतक के परिजनों का आरोप है कि आरटीआई कार्यकर्ता आकाश के समर्थन करने की रंजिश में उसके चचेरे भाई आशीष की जिम में गोली मारकर हत्या कर दी गई।

पिपली गांव के मृतक के ताऊ दलजीत के बयान पर आशीष की हत्या करने के आरोप में सरपंच व दो अन्य पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर एसआईटी सहित तीन टीमें गठित कर आरोपी सरपंच की गिरफ्तारी के लिए सरपंच कि रिश्तेदारियों व अन्य ठिकानों पर छापामारी शुरू कर दी है। थाना प्रभारी वजीर सिंह का कहना है कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली सहित कई स्थानों पर छापामारी भी की गई है। जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार किया जाएगा।

आरटीआई लगाने से जुड़े आशीष हत्याकांड के तार

पिपली गांव निवासी बीटेक पास छात्र आशीष उर्फ आशु की हत्याकांड के तार भी सरपंच के खिलाफ आरटीटाई लगाने से जुड़ गए हैं। थाना प्रभारी वजीर सिंह ने बताया कि 12 जून को पिपली गांव में नेक्सट्रा सिटी के आफिस से रामावतार को बुलाकर उसे गोली मारी थी। जिसमें सरपंच रामनिवास पर आरोप लगा था।

गोलीकांड के दौरान सरपंच ने कहा था कि उसके खिलाफ आरटीआई लगाने का मजा चखाता हूं। मृतक आशीष के चचेरे भाई आकाश को सरपंच ने फोन पर धमकी इसलिए थी कि आकाश ने आरटीआई लगाने वाले का साथ देने की बात कही थी। इसी तरह से आकाश के साथ रंजिश बनी थी, लेकिन हत्या परिवार के ही आशीष की हो गई। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर दविश दे रही है।