• Hindi News
  • Haryana
  • Khijrabad
  • सुलतान व असलम पर 3 अप्रैल को अवैध खनन का केस दर्ज हुआ, लेकिन नहीं हुई थी गिरफ्तारी
--Advertisement--

सुलतान व असलम पर 3 अप्रैल को अवैध खनन का केस दर्ज हुआ, लेकिन नहीं हुई थी गिरफ्तारी

Khijrabad News - अवैध खनन माफिया के खिलाफ पुलिस व दूसरे विभागों का अभियान केवल फाइलों तक ही सिमट कर रह गया है। विभाग द्वारा जिन...

Dainik Bhaskar

Apr 27, 2018, 02:30 AM IST
सुलतान व असलम पर 3 अप्रैल को अवैध खनन का केस दर्ज हुआ, लेकिन नहीं हुई थी गिरफ्तारी
अवैध खनन माफिया के खिलाफ पुलिस व दूसरे विभागों का अभियान केवल फाइलों तक ही सिमट कर रह गया है। विभाग द्वारा जिन लोगों के विरुद्ध अवैध खनन के आरोप में मामले दर्ज किए गए हैं उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। खनन विभाग इंस्पेक्टर की रिपोर्ट पर बेलगढ़ में अवैध खनन के आरोप में पूर्व मंत्री निर्मल सिंह के भांजे जगाधरी निवासी सुलतान व उनके मुंशी असलम के खिलाफ तीन अप्रैल को केस दर्ज किया गया था। लेकिन अभी तक किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया। हाल ही में विधान भा स्पीकर के गांव बहादुरपुर में एक व कलेसर गांव के दो लोगों के खिलाफ मामले दर्ज हुए, लेकिन कार्रवाई ठंडे बस्ते में डाल दी गई। यही कारण है कि अवैध खनन का खेल बिना रोकटोक के जारी है।

यमुनानदी क्षेत्र के अति संवेदनशील एरिया में अवैध खनन का खेल बिना किसी रोकटोक के जारी है। अवैध खनन माफिया के खिलाफ खनन विभाग के साथ-साथ सिंचाई विभाग, पुलिस व वन विभाग द्वारा भी मामले दर्ज कराए जाते रहे हैं। विभागीय अधिकारी केस की फाइलें तैयार करते हैं। नक्शे बनाए जाते हैं। केस भी दर्ज होते हैं लेकिन सब कुछ दिन बाद ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है। खनन विभाग के इंस्पेक्टर ओम दत्त की रिपोर्ट पर तीन अप्रैल को सुलतान, असलम व तीन अन्य के खिलाफ बेलगढ़ में अवैध खनन करने के आरोप में खिजराबाद थाने में केस दर्ज किया गया था। लेकिन केस फाइलों तक ही सिमट कर रह गया। जानकारों का मानना है कि यदि उक्त आरोपियों को समय रहते गिरफ्तार कर लिया जाता तो बेलगढ़ में रास्ते बंद करने व फायरिंग करने के केस घटित ही नहीं होते। उक्त पांचों आरोपियों में सुलतान पूर्व मंत्री का निकट रिश्तेदार है व असलम खास सलाहकार रहा है। ऐसे ही एक अन्य मामले में ताजेवाला सिंचाई विभाग द्वारा अवैध खनन रोकने के लिए आरडी 3500 पर लगाए गए बैरिकेड्स माफिया ने तीन मार्च को उखाड़ कर नहर में फेंक दिए गए।

बैरिकेड्स तोड़ने वालों पर कार्रवाई नहीं की पुलिस ने

सिंचाई विभाग के जेई जीत राम की रिपोर्ट पर 21 डंपरों के नंबर की डिटेल सहित 15 लोगों के खिलाफ थाना खिजराबाद में रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई। लेकिन मामला दबाव के चलते दब कर रह गया। ताजेवाला एरिया के 6 स्क्रीनिंग विभाग द्वारा दो बार सील किए जाने के बावजूद सरेआम चल रहे हैं। बेलगढ़ में बिना एमडीएल के चलाए जा रहे 5 स्क्रीनिंग प्लांट्स सील किए जाने के बाद भी कार्य कर रहे हैं। विभागीय अधिकारी सबकुछ देख कर भी मौन साधे हुए हैं। बहादुरपुर व कलेसर के भी दो लोगों के खिलाफ यमुनानदी क्षेत्र में अवैध खनन करने के आरोप में केस दर्ज है, लेकिन अभी तक इन मामलों में भी किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है।

X
सुलतान व असलम पर 3 अप्रैल को अवैध खनन का केस दर्ज हुआ, लेकिन नहीं हुई थी गिरफ्तारी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..