--Advertisement--

चेयरमैन की कुर्सी बचेगी या नहीं होना था फैसला

ब्लॉक समिति कुरुक्षेत्र में चेयरमैन की कुर्सी को लेकर मंडराया खतरा अभी दूर नहीं हो पाया। दोनों पक्षों के साथ...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 03:50 AM IST
चेयरमैन की कुर्सी बचेगी या नहीं होना था फैसला
ब्लॉक समिति कुरुक्षेत्र में चेयरमैन की कुर्सी को लेकर मंडराया खतरा अभी दूर नहीं हो पाया। दोनों पक्षों के साथ बुधवार को विधायक सुभाष सुधा की मीटिंग में विवाद सुलझाने का प्रयास होना था, लेकिन यह मीटिंग ही नहीं हो पाई। गुरु रविदास जयंती कार्यक्रमों के चलते विधायक खुद ही व्यस्त रहे। इसके चलते मीटिंग गुरुवार तक टाल दी। वहीं चेयरमैन के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले कुछ सदस्यों का कहना है कि वे लोग अपने स्टैंड पर कायम हैं। इंतजार यही है कि कब प्रशासन मीटिंग बुलाएगा। विधायक द्वारा मीटिंग लेने की उन्हें कोई सूचना नहीं है। वहीं एक अन्य सदस्य ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि विधायक द्वारा मीटिंग लेने की सूचना उन्हें जरूर है, लेकिन अभी तक यह मीटिंग नहीं हुई। विधायक यदि बुलाएंगे तो अपना पक्ष रखेंगे, लेकिन चेयरमैन के खिलाफ वे अपने कदम पीछे नहीं खीचेंगे।

मिलजुल करें समस्या दूर: वहीं विधायक सुभाष सुधा का कहना है कि ब्लॉक समिति में चेयरमैन का कुछ सदस्य विरोध कर रहे हैं। अविश्वास प्रस्ताव लाने की मांग बारे उन्होंने सुना है। वे एक दिन पहले ही गोवा से लौटे हैं। गुरुवार को सभी सदस्यों की मीटिंग बुला कर बातचीत करेंगे। इस मसले को मिलकर हल कर लिया जाएगा। बता दें कि 20 सदस्यों ने शपथपत्र देकर चेयरमैन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की मांग डीसी सुमेधा कटारिया से पिछले बुधवार को की थी। पता चलते ही चेयरमैन गुट भी सक्रिय हो गया। चेयरमैन देवीदयाल शर्मा का दावा है कि 13 सदस्य साथ हैं। तीन सदस्यों ने उनके हक में शपथपत्र दिए हैं। वहीं विरोधी पक्ष का कहना है कि 20 सदस्य आज भी एकजुट हैं।

विधायक सुभाष सुधा ने मामले को सुलझाने के प्रयास में बुलाई थी बैठक

X
चेयरमैन की कुर्सी बचेगी या नहीं होना था फैसला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..