संस्कृति का अर्थ जीवन में बावड़ी करना : महावीर दास

Kurukshetra News - पिहोवा | मेन चौक स्थित दक्षिणामुखी हनुमान की ओर से हनुमान जयंती के उपलक्ष्य में चल रही भजन संध्या महंत धर्मपाल...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 08:15 AM IST
Pehowa News - haryana news meaning of culture in life mahavir das
पिहोवा | मेन चौक स्थित दक्षिणामुखी हनुमान की ओर से हनुमान जयंती के उपलक्ष्य में चल रही भजन संध्या महंत धर्मपाल बैरागी की ओर से बांडी वाले वैराग्य मंदिर नंद कॉलोनी में हुई। भजन संध्या में शामिल श्रद्धालुओं का अभिनंदन किया। महंत महावीर दास ने कहा कि संस्कृति का अर्थ जीवन में साझेदारी करना है। दूसरे के जीवन में शामिल होना। दूसरे को अपने जीवन में शामिल करना ही संस्कृति का वास्तविक अर्थ है। युवा पीढ़ी को अपनी संस्कृति की समझ होनी बेहद जरूरी है। तभी अपनी संस्कृति को आगे बढ़ाया जा सकता है।

महंत महावीर दास ने आयोजकों को बालाजी का स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। इस मौके पर महंत बबला दास, महंत पवन कुमार, लोकेश स्वामी, महेंद्र दास, प्रवीण कुमार, दीपक, चिराग, हिमांशु, भीम सेन, पीयूष दास, नैतिक दास, अंश दास, वंशदास, शुभम, भूपेंद्र, सोहन प्रीत, शिवचरण, प्रीत महिंद्र, बबलू सिंदूरिया, सुनील शास्त्री, संजय शर्मा, नरेश शर्मा, जगदीश तनेजा, जयकुमार ठाकुर, नंद गोपाल शर्मा, विजय शर्मा, अश्वनी वासन, हरकेश सैनी, रोशन लाल आजाद व करण अत्री सहित कई लोगों ने बजरंगबली का गुणगान किया।

X
Pehowa News - haryana news meaning of culture in life mahavir das
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना