• Home
  • Haryana News
  • Kurukshetra
  • पुरुषोत्तम मास भक्ति, आराधना व पुण्य कर्मो के लिए सर्वश्रेष्ठ-विजय कुमार
--Advertisement--

पुरुषोत्तम मास भक्ति, आराधना व पुण्य कर्मो के लिए सर्वश्रेष्ठ-विजय कुमार

चक्रवती मोहल्ला स्थित श्री शिव साईं मंदिर में पुरुषोत्तम मास के उपलक्ष्य में श्रीराम कथा का शुभारंभ हुआ। मंदिर...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:05 AM IST
चक्रवती मोहल्ला स्थित श्री शिव साईं मंदिर में पुरुषोत्तम मास के उपलक्ष्य में श्रीराम कथा का शुभारंभ हुआ। मंदिर महंत विजय कुमार शर्मा ने बताया कि कथा 12 जून तक लगातार 29 दिन शाम 4 से 7 बजे तक चलेगी। मुख्य यजमान समाजसेवी डॉ. . महेश तनेजा ने श्रीराम पूजन में भाग लेकर कथावाचक पंडित रामअवतार श्रोत्रिय को तिलक लगाया। पुरुषोत्तम मास की महत्ता के साथ-साथ कथावाचक ने भगवान शिव द्वारा माता पार्वती को श्रीराम कथा सुनाने का प्रसंग विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि पुरुषोत्तम मास भक्ति,आराधना व पुण्य कर्मों के लिए सर्वश्रेष्ठ है। हर तीन साल में एक बार एक अतिरिक्त माह का प्राकट्य होता है, जिसे अधिकमास, मल मास या पुरुषोत्तम मास के नाम से जाना जाता है। हिंदू धर्म में इस माह का अपना विशेष महत्व है। संपूर्ण भारत की हिंदू धर्मपरायण जनता इस पूरे मास में पूजा-पाठ, भगवद् भक्ति, व्रत-उपवास, जप और योग आदि धार्मिक कार्यो को करती है। ऐसा माना जाता है कि अधिकमास में किए गए धार्मिक कार्यो का किसी भी अन्य माह में किए गए पूजा-पाठ से 10 गुना अधिक फल मिलता है। श्रीराम कथा आरती में पुजारी समक्ष शर्मा, चीनू शर्मा, कुलदीप सैनी, विशाल सेठी, गोरव सेठी, सुमन सैनी, नमन, प्रवीण अरोड़ा बब्बू, गोपाल कक्कड़, सतीश पोपली, बलदेव राज पोपली, संजय गोयल, ईश्वर सिंगला, खुशी शर्मा मौजूद रहे।