• Home
  • Haryana News
  • Kurukshetra
  • महिला नटवरलाल: साल पहले पिहोवा से मकान बेच कर अम्बाला हुई थी शिफ्ट, वहां से भी गायब
--Advertisement--

महिला नटवरलाल: साल पहले पिहोवा से मकान बेच कर अम्बाला हुई थी शिफ्ट, वहां से भी गायब

महिलाओं को बैंक से 5-5 लाख का लोन दिलाने के नाम पर 2,200 से ढाई हजार रुपए तक की चपत लगा कर गायब हुई सरोज मूलरूप से पिहोवा की...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:20 AM IST
महिलाओं को बैंक से 5-5 लाख का लोन दिलाने के नाम पर 2,200 से ढाई हजार रुपए तक की चपत लगा कर गायब हुई सरोज मूलरूप से पिहोवा की रहने वाली है। लेकिन यहां से वह करीब एक साल पहले ही गायब हो चुकी है। इस संबंध में शिकायतें बढ़ने के बाद अब पुलिस भी सरोज के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की तैयारी कर रही है।

पिहोवा के गांधीनगर इलाके में सरोज के पति का मकान था। जब भास्कर टीम वहां पड़ताल करने पहुंची तो पता चला कि उक्त मकान करीब एक साल पहले ही वह और उसका परिवार बेच चुका है। पिहोवा के एक बैंक में उसका खाता था। अब वह खाता भी लंबे समय से ऑपरेट नहीं हुआ है। सरोज का पति विरेंद्र कुछ साल पहले दुबई चला गया था। सरोज खुद भी यहां से दो बच्चों को लेकर अम्बाला शिफ्ट हो गई। बाद में ही मकान बेचा गया। गांधीनगर के पार्षद प्रवीण के मुताबिक पिछले कुछ समय से लोग उसे पूछते हुए यहां पहुंच रहे हैं। लेकिन किसी को उनके बारे में कोई जानकारी नहीं है। यहां कब मकान बनाया, इसकी भी किसी को जानकारी नहीं है।

बैंक के पते पर निकला फाइनेंस का दफ्तर

सरोज महिलाओं को खुद को चंडीगढ़ के बैंक में कार्यरत बताती थी। महिलाओं को एससीओ नंबर 263, फस्ट फ्लोर, सेक्टर 32डी चंडीगढ़ का पता बताती। जब इस पते की पड़ताल की तो यह एक अॉटो व कार फाइनेंस का दफ्तर निकला। फाइनेंसर अजीतपाल सिंह के मुताबिक पिछले कुछ समय से उनके पास भी बार-बार फोन आ रहे हैं। उनसे यही पूछते हैं कि उनका स्कीम के तहत लोन कब पास होगा। उन्हें तो अब पता चला कि किसी महिला ने उनके दफ्तर का पता इस तरह यूज किया है। संभव है कि यह पता इंटरनेट से उठाया होगा। अब उन्होंने भी सेक्टर नौ स्थित पुलिस थाने में शिकायत की है।


रिश्ते में बहन को भी फंसाया

सरोज ने रिश्ते में बहन रानी की मार्फत पिपली एरिया में महिलाओं से संपर्क बनाया। खुद रानी को भी यही बताया कि वह स्कीम के तहत महिलाओं को लोन दिलाएगी। रानी चाहे तो आगे महिलाओं के फार्म भर सकती है। जिस पर रानी ने भी कई महिलाओं के फार्म भरवा दिए। रानी का कहना है कि उसे खुद नहीं पता था कि इस तरह ठगी होगी।

करनाल में भी कइयों को चपत

सरोज ने असंध, इंद्री व करनाल इलाके में भी महिलाओं को चपत लगाई है। खुद रानी ने असंध से कइयों के फार्म भरवाए हुए हैं। बता दें कि सरोज ने महिलाओं को झांसा दिया कि उन्हें सरकार की स्कीम के तहत पांच लाख रुपए तक का लोन मिलेगा। इसकी एवज में दो हजार रुपए एडवांस और 200 रुपए फाइल फीस के नाम पर लिए। कुरुक्षेत्र में करीब 250 महिलाओं के फार्म भर उनसे लाखों रुपए ले गई।

इंवेस्टिगेशन में शामिल करने को दिया था नोटिस

सेक्टर पांच चौकी प्रभारी जगदीशचंद्र का कहना है कि सरोज को पुलिस ने इंवेस्टिगेशन में शामिल होने का नोटिस दिया था। तब उसके खिलाफ केस दर्ज नहीं था। लेकिन वह जांच में शामिल नहीं हुई। लिहाजा पुलिस शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर आगे की जांच करेगी।