• Home
  • Haryana News
  • Ladwa
  • गाड़ी में बैठे-बैठे पानी की बोतल मंगवाई, तभी बदमाशों ने गन प्वाइंट पर किया अपहरण, लूट कर यूपी में छोड़ा
--Advertisement--

गाड़ी में बैठे-बैठे पानी की बोतल मंगवाई, तभी बदमाशों ने गन प्वाइंट पर किया अपहरण, लूट कर यूपी में छोड़ा

मुझे लगा कि अब शायद जिंंदगी का अंत आ चुका है। तीन घंटे तक हरपल अपने सिर पर मौत मंडराती दिखी। बदमाश कह चुके थे कि तुझे...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 02:35 AM IST
मुझे लगा कि अब शायद जिंंदगी का अंत आ चुका है। तीन घंटे तक हरपल अपने सिर पर मौत मंडराती दिखी। बदमाश कह चुके थे कि तुझे गोली मारेंगे। मन में बिजली की तरह सवाल आ जा रहे थे। कभी सोचता कि फिरौती के लिए अपहरण किया है। फिर यह सोच कर अंदर तक हिल जाता कि कहीं उसे मारने को किसी ने सुपारी तो नहीं दी, उसकी तो किसी से दुश्मनी भी नहीं है। जब यूपी में बदमाश गाड़ी नीचे उतार कर चले गए तो भी काफी देर तक उसे खुद के जिंदा और सकुशल होने का अहसास नहीं हो रहा था। यह आपबीती कार बाजार संचालक डिंपल ने सुनाई है। गुरुवार की रात डिंपल का बदमाशों ने लाडवा से अपहरण कर लिया, बाद में उसे यूपी उतार कर चले गए। उसकी फॉरच्यूनर कार, तीन सोने की अंगूठी और 50 हजार रुपए कैश व दो मोबाइल छीन ले गए।

बेटी से मिलकर लौट रहा था | पिपली में कार बाजार के मालिक व समानाबाहू वासी डिंपल ने बताया कि उसकी बेटी डिंपी यमुनानगर में रहती है। उससे मिलने के बाद वह अपनी फॉरच्यूनर कार से घर के लिए वापस चला था। करीब साढ़े 11 बजे का समय था। लाडवा के अंबेडकर चौक पर वह पानी की बोतल लेने के लिए रुका था। गाड़ी में बैठे बैठे उसने सामने की दुकान से पानी की बोतल मंगाई। इसी बीच पांच-छह युवक वहां पहुंचे। आते ही उस पर पिस्तौल तान दी। कहा कि शोर मचाया तो उसे जान से मार देंगे।

ये थी प्लानिंग

लाडवा थाना परिसर में वारदात की जानकारी देते डिंपल, उसके परिजन व पार्टनर।

हरियाणवी में कर रहे थे बात

डिंपल के मुताबिक उक्त सभी सोनीपत की तरफ की हरियाणवी लैंग्वेज में बातें कर रहे थे। रास्ते में तीन चार जगहों पर पुलिस नाके भी आए। क्योंकि जब भी नाका आता, तो वे एक दूसरे को बोल कर अलर्ट करते। लेकिन किसी नाके पर उनकी कार नहीं रोकी गई।


बदमाश बोले-उतर नीचे, आ गया पंजाब

रास्ते में चलते चलते उन्होंने उसकी तीनों अंगूठियां उतरवा ली। उसके दोनों मोबाइल छीन कर स्विच आफ कर दिए। उसके पास से 50 हजार रुपए कैश भी छीन लिया। करीब ढाई बजे उन्होंने गाड़ी रोकी। उसे कहा, नीचे उतर। पंजाब आ गया है। तब उसे लगा कि अब ये लोग यहां उसे गोली मार देंगे। डरते हुए वह नीचे उतरा। लेकिन यहां उतराने के बाद उक्त बदमाश उसकी फॉरच्यूनर लेकर तेजी से कस्बे की तरफ निकल गए।

मुंह बांध कर पिछली सीटों के नीचे डाला

इसके बाद चार युवक कार में सवार हो गए। मुंह बांध कर पिछली सीटों के नीचे डाल दिया। एक युवक खुद ड्राइव करने लगा। डिंपल के मुताबिक काफी देर तक वे लाडवा एरिया में घूमते रहे। इसके बाद गन्ने के खेतों में कार रोकी। उसे नीचे उतारा। तब देखा कि एक स्काॅर्पियो व एक और कार भी पीछे पीछे थी। स्काॅर्पियो से केन उतार कर फॉरच्यूनर में तेल भरा। उससे कहा कि तुझे मारना है। उसके पैरों के पास गोली भी चलाई।

फोन कर बुलाए परिजन

उसने पास ही स्थित एक चाय विक्रेता के फोन से घर वालों को फोन किया। बताया कि उसका अपहरण हुआ। पता चलते ही बेटा मयंक व उसका पार्टनर अमित झिंझाना पहुंचे। वहां से सुबह लाडवा थाना पहुंच कर पुलिस को बताया।

इधर परिजन निकले थे तलाश में

पार्टनर अमित ने बताया कि रात को करीब साढ़े 11 बजे मयंक ने फोन कर बताया कि डिंपल घर नहीं पहुंचा। डिंपल का फोन स्विच आफ था। ऐसे में वह अपने दोस्त भीष्म के साथ उसे तलाशने निकला। यमुनानगर तक देखने पहुंचे। लेकिन कहीं पता नहीं चला। तड़के उसके अपहरण की सूचना मिली, तो पांव तले से जमीन सरक गई।

अंबेडकर चौक के सीसीटीवी कैमरे खराब मिले

यूं तो लाडवा में कई जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए हुए हैं। लेकिन अंबेडकर चौक पर लगे चारों कैमरे खराब मिले। बाद में शुक्रवार को इन्हें ठीक कराने की कवायद शुरू की। लाडवा थाना प्रभारी सुरेंद्र कुमार का कहना है कि पुलिस बदमाशों की तलाश में लगी है। आसपास के क्षेत्रों में सीसीटीवी फुटेज तलाश रहे हैं।

सीसीटीवी कैमरों से फुटेज तलाशता कर्मचारी।