--Advertisement--

न अधिकारी पहुंचे न पंच-सरपंच

सरकार 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस भव्य स्तर पर मनाने के दावे कर रही है। इसकी तैयारियां भी पिछले कई दिनों से चल...

Danik Bhaskar | Jun 11, 2018, 02:50 AM IST
सरकार 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस भव्य स्तर पर मनाने के दावे कर रही है। इसकी तैयारियां भी पिछले कई दिनों से चल रही हैं। इसी कड़ी में प्रोटोकॉल योग शिविरों का आयोजन खंड व जिलास्तर पर किया जा रहा है।

इन शिविरों के लिए बाकायदा अधिकारियों और कर्मचारियों को हिस्सा लेने के आदेश दिए हुए हैं। लेकिन दूसरे ही दिन इस शिविर की हवा निकल गई। रविवार को न तो कोई अधिकारी, न कर्मचारी और न ही पंच-सरपंच योग सीखने पहुंचे। 9 से 11 जून तक आर्य समाज मंदिर परिसर में कैंप लगाया गया है।

पहले दिन ही कम थी हाजिरी : नौ जून को पहले दिन ही शिविर में उम्मीदों व दावों से कहीं कम हाजिरी रही थी। बीडीपीओ कंवरभान नरवाल व चार पांच पंचायतों के प्रतिनिधियों को छोड़कर कोई अधिकारी या पंच-सरपंच, ग्राम सचिव नहीं पहुंचा था। तब शिविर आयोजकों ने पहला दिन होने का तर्क दिया था।

दूसरे दिन एक सरपंच पहुंचे

वहीं दूसरे दिन केवल मात्र गांव बणी की पंचायत के प्रतिनिधि पहुंचे। आगे ना अधिकारी दिखे और ना कर्मचारी व पंच सरपंच। इस पर वे भी वापस लौट गए।

आफिस आकर देखेंगे

वहीं बीडीपीओ कंवरभान नरवाल का कहना है कि किसी परिचित के निधन के चलते उन्हें अचानक जाना पड़ा। यह जानकारी नहीं है कि शिविर में कोई नहीं पहुंचा। सोमवार को आफिस आकर पता कराएंगे।

हम तो पहुंचे थे सिखाने

पतंजलि योग समिति के योग समिति के योग शिक्षक हरविन्द्र सिंह ने कहा कि समिति सदस्य योग सिखाने पहुंचे थे। लेकिन शिविर में मात्र बणी पंचायत के प्रतिनिधि पहुंचे। हालांकि यहां उनकी रोजाना क्लास चलती है। क्लास में योग जरूर सिखाए।