मेवात

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Mewat
  • 42 साल बाद 40 करोड़ रुपए से बदलेगा बिजली का स्ट्रक्चर, नंगे तारों से होने वाले हादसे रुकेंगे
--Advertisement--

42 साल बाद 40 करोड़ रुपए से बदलेगा बिजली का स्ट्रक्चर, नंगे तारों से होने वाले हादसे रुकेंगे

मेवात जिले के बिजली स्ट्रक्चर को नया रूप देने के लिए 40 करोड़ रुपए खर्च कर सभी पुराने ट्रांसफार्मर व तारों को बदला...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:05 AM IST
मेवात जिले के बिजली स्ट्रक्चर को नया रूप देने के लिए 40 करोड़ रुपए खर्च कर सभी पुराने ट्रांसफार्मर व तारों को बदला जाएगा। मेवात जिले में 42 साल बाद शहर की बिजली व्यवस्था को अपग्रेड किया जाएगा। बिजली विभाग के बदले स्वरूप के बाद मेवात के लोगों की बिजली कम मिलने की शिकायत पर विराम लगने की संभावना है।

मेवात जिले के लोगों को साल 1972 में बिजली नसीब हुई थी। उसके बाद से आज तक बिजली के तारों व पोलों को बदला नहीं गया। जर्जर बिजली के तारों के चलते मेवात के कई लोग हादसों के शिकार हो चुके हैं। कई बार लगाई अधिकारियों से फरियाद

कई बार इन्हें बदलने की मांग सरकार के नुमाइंदों से की गई, लेकिन किसी ने पुराने बिजली स्ट्रक्चर को बदलने की पहल नहीं की। लंबे समय बाद सरकार की ओर से मेवात में पुराने जर्जर तारों व ट्रांसफार्मरों को बदलने का काम शुरू किया गया है। जिससे अब जनता को काफी राहत मिलने की उम्मीद है।

अपग्रेडेशन

दीनदयाल उपाध्याय योजना व ऊर्जा मित्र योजना के तहत मेवात में बिजली विभाग सूरत सुधारने को करेगा काम

लाइन लॉस को समाप्त करना होगा प्राथमिकता


बिजली बिल मोबाइल से होंगे कनेक्ट

ऊर्जा मित्र योजना के अंतर्गत सभी बिजली उपभोक्ता आधार कार्ड से जोड़े जाएंगे, जिससे विभाग द्वारा हर उपभोक्ता का बिजली बिल मोबाइल पर भेजा जाएगा। इसके अलावा बिजली जाने से पूर्व हर उपभोक्ता को बिजली कब आएगी, कब नहीं आएगी, की भी जानकारी मोबाइल पर मैसेज भेजकर दी जाएगी।

अर्बन के साथ-साथ रूरल में भी बदलाव

दीनदयाल उपाध्याय योजना के अंतर्गत जिले के 315 गांवों में लगे पुराने तार बदलकर प्रत्येक गांव में नई केबिल लाइन डाली जाएगी। इसके अलावा 75 हजार कुंडी कनेक्शनों को मात्र 200 रुपए जमा कर नए कनेक्शन व मीटर लगाए जाएंगे। जिससे गांवों में बिजली चोरी पर अंकुश लगाया जा सकेगा।

X
Click to listen..