Hindi News »Haryana »Mewat» तीन माह का कोर्स बनाएगा स्वावलंबी

तीन माह का कोर्स बनाएगा स्वावलंबी

भास्कर न्यूज| फिरोजपुर झिरका जिला मुख्यालय नूंह में कम पढ़ी-लिखी लड़कियों व महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 11, 2018, 02:05 AM IST

भास्कर न्यूज| फिरोजपुर झिरका

जिला मुख्यालय नूंह में कम पढ़ी-लिखी लड़कियों व महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए नाबार्ड की मदद से सामाजिक संगठन मैट्रिक्स ने कटिंग एवं टेलरिंग, बेसिक कम्प्यूटर, ब्यूटी पार्लर के कोर्स की शुरुआत की है। तीन माह के कोर्स के दौरान नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा। हर कोर्स में 30-30 लड़कियां दाखिला ले सकेंगी। संस्था के सीईओ आरके सिंह एवं नाबार्ड के एजीएम विजय नागरा ने संस्थान का शुक्रवार को उद्घाटन किया।

दिल्ली-अलवर मार्ग पर पेट्रोल पंप के समीप खुले इस संस्थान में सोमवार से कक्षाओं की शुरुआत होगी। प्रत्येक कोर्स में सुबह-शाम की दो शिफ्ट होंगी। जिनमें 15-15 लड़कियां प्रशिक्षण प्राप्त करेंगी। उद्घाटन कार्यक्रम में मैट्रिक्स संस्था के सीईओ आरके सिंह ने कहा कि नाबार्ड भारत सरकार के सहयोग से बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कोर्स शुरुआत की जा रही है। तीन माह के प्रशिक्षण के बाद जिन लड़कियों या महिलाओं को लोन की जरूरत होगी या फिर रोजगार की जरूरत होगी, उन्हें मुहैया कराया जाएगा। इस सेंटर में सभी प्रशिक्षण लेने वाली महिलाओं को कम्प्यूटर ज्ञान भी मिलेगा। महिलाओं को प्रशिक्षण के दौरान बेहतर सुविधाएं मिलें, इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है। आरके सिंह ने कहा कि मेवात जिले में वो कई दशकों से काम कर रहे हैं। उनका प्रयास है कि महिलाओं के उत्थान में उनकी भूमिका किसी ने किसी रूप में हो। नाबार्ड के एजीएम विजय नागरा ने कहा कि महिलाओं को समय पर प्रशिक्षण लेने आना है और समय पर घर जाना है। 18 साल से कम आयु की लड़कियों को प्रशिक्षण नहीं दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि पूरी लग्न और मेहनत के साथ कोर्स करना है। ताकि भविष्य में कामयाब इंसान बन सकें। एजीएम ने कहा कि कम पढ़ी - लिखी महिलाओं के लिए प्रशिक्षण का सुनहरा अवसर है, जिसके बाद जीवन में बदलाव लाया जा सकता है।

नाबार्ड व सामाजिक संगठन मैट्रिक्स ने महिलाओं के लिए रोजगार संबंधी कोर्स की शुरुआत की

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mewat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×