Hindi News »Haryana »Mewat» प्रदेश में पहले स्थान पर महेंद्रगढ़, दूसरे पर रेवाड़ी, 51 फीसदी के साथ गुड़गांव ने पाया 5वां स्थान

प्रदेश में पहले स्थान पर महेंद्रगढ़, दूसरे पर रेवाड़ी, 51 फीसदी के साथ गुड़गांव ने पाया 5वां स्थान

सक्षम हरियाणा व लर्निंग इनहांसमेंट जैसे कार्यक्रमों का स्कूली शिक्षा पर कोई खास प्रभाव नहीं दिख रहा। शिक्षा...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 21, 2018, 02:00 AM IST

  • प्रदेश में पहले स्थान पर महेंद्रगढ़, दूसरे पर रेवाड़ी, 51 फीसदी के साथ गुड़गांव ने पाया 5वां स्थान
    +3और स्लाइड देखें
    सक्षम हरियाणा व लर्निंग इनहांसमेंट जैसे कार्यक्रमों का स्कूली शिक्षा पर कोई खास प्रभाव नहीं दिख रहा। शिक्षा विभाग ने सत्र 2017-2018 का पहली से आठवीं कक्षा के बच्चों का वार्षिक असेसमेंट टेस्ट मार्च में लिया था। राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) ने इसकी रिपोर्ट जारी की है। मिडिल के बच्चों का हिंदी, अंग्रेजी, गणित और साइंस में प्रदर्शन संतोषजनक नहीं रहा। प्रदेश में पहले स्थान पर महेंद्रगढ़ (60%), दूसरे पर रेवाड़ी(57%), तीसरे पर सोनीपत (57%),चौथे पर झज्जर (56%) व पांचवें स्थान पर गुड़गांव (51%) रहा। हरियाणा में 47 फीसदी छात्रों ने 50 फीसदी अंक पाए। एससीईआरटी मूल्यांकन विंग प्रभारी सुरेंद्र सिंह संधू ने बताया कि मूल्यांकन में मेवात के प्रदर्शन में सुधार है। रिपोर्ट को सभी डीईओ/डीईईओ के अलावा डायट को भेजा है, ताकि कमजोर प्रदर्शन करने वाले स्कूलों पर ध्यान दिया जा सके। वार्षिक परीक्षा में 97 फीसदी छात्रों ने भाग लिया। मंथली टेस्ट में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले मेवात का वार्षिक असेसमेंट में प्रदर्शन अप्रत्याशित रहा। गौरतलब है कि शिक्षा विभाग आरटीई लागू होने के बाद कक्षा एक से आठवीं तक मंथली, अर्ध वार्षिक व वार्षिक असेसमेंट कराता है, ताकि बच्चों के शैक्षिक स्तर का आंकलन होता रहे। असेसमेंट में 50 फीसदी से अधिक अंक पाने वाले छात्रों को शामिल किया गया है।

    जिलेवार ये रहा

    छात्रों का प्रदर्शन

    महेंद्रगढ़-60%

    रेवाड़ी-57%,

    सोनीपत-57%

    झज्जर-56%

    गुड़गांव-51%

    मेवात-51%

    भिवानी-50%

    रोहतक-49%

    हिसार-47%

    फरीदाबाद-45%

    पानीपत-45%

    99 फीसदी स्कूलों ने की डाटा एंट्री:एनुअल असेसमेंट में 99 फीसदी स्कूलों ने डाटा एंट्री की। भिवानी, महेंद्रगढ़, पानीपत व सिरसा ने सौ फीसदी। 14 जिलों ने 99 फीसदी डाटा एंट्री की गई। इसमें अंबाला, फतेहाबाद, गुड़गांव, हिसार, झज्जर, जींद, कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र शामिल हैं।

    सक्षम हरियाणा और एलईपी जैसे कार्यक्रम को लेकर विभाग गंभीर नहीं है। मॉनिटरिंग के अभाव में उन्हें सही तरीके से लागू नहीं किया जा सका। स्कूलों में टीचर्स की कमी है। इसका असर बोर्ड परीक्षा में भी पढ़ता है। -सत्यनरायण यादव, उप राज्य प्रधान, अध्यापक संघ

    अंबाला-44%

    सिरसा-43%

    पंचकूला-43%

    जींद-42%

    कुरुक्षेत्र-42%

    कैथल-41%

    करनाल-40%

    यमुनानगर-38%

    फतेहाबाद-37%

    पलवल-37%

    हरियाणा-47%

    असेसमेंट में प्रदेशभर में 97% छात्र शामिल हुए

    प्रदेश के 16 जिलों में 98 से 99% छात्र उपस्थित रहे। इसमें अंबाला, भिवानी, फतेहाबाद, गुड़गांव, हिसार, झज्जर, जींद, कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र, महेंद्रगढ़, पंचकूला, रेवाड़ी, रोहतक, सिरसा व सोनीपत शामिल हैं। सबसे कम पलवल का 82% है। प्रदेश में कुल 16,82,576 छात्रों में से 16,31,896 ने असेसमेंट दिया, यानि 97%। गुड़गांव में 89,270 में से 87,434 शामिल हुए यानि 98%। पलवल, पंचकूला, रोहतक, सोनीपत व यमुनानगर शामिल हैं। फरीदाबाद व मेवात की 97% है।

    असेसमेंट रिपोर्ट सभी डीईईओ व डायट प्रिंसिपल को भेजी है। जिससे कमजोर प्रदर्शन करने वाले स्कूलों पर ध्यान दिया जा सके। टीचर ट्रेनिंग में असेसमेंट पर चर्चा की जाएगी, ताकि शैक्षणिक स्तर सुधारा जा सके। -ज्योति चौधरी, निदेशक, एससीईआरटी, गुड़गांव

    असेसमेंट रिपोर्ट सभी डीईईओ व डायट प्रिंसिपल को भेजी है। जिससे कमजोर प्रदर्शन करने वाले स्कूलों पर ध्यान दिया जा सके। टीचर ट्रेनिंग में असेसमेंट पर चर्चा की जाएगी, ताकि शैक्षणिक स्तर सुधारा जा सके। -ज्योति चौधरी, निदेशक, एससीईआरटी, गुड़गांव

    106 टीचर्स को शो कॉज नोटिस दिया गया

    मेवात में बच्चों के प्रदर्शन में कमी नहीं थी। टीचर कॉपी जांच में गड़बड़ी कर रहे थे। ऐसे में प्रशासन के ध्यान में लाकर टीमों का गठन करने के बाद स्कूल में अचानक छापा मारा, तो पाया कि 61 फीसदी कापी चेक ही नहीं हुई थीं। कुछ ने कॉपी बिना चेक किए नंबर दे दिया। 106 टीचरों को शो कॉज नोटिस दिया गया। मेवात का परिणाम 51 फीसदी आया है। -डॉ. दिनेश शास्त्री, डीईओ मेवात

    प्राइमरी में कक्षा 3 और 4 के परिणाम नहीं संतोषजनक

    असेसमेंट में प्राइमरी में हिंदी में छात्रों का प्रदर्शन बेहतर रहा, लेकिन कक्षा तीन व चार में संतोषजनक नहीं है। अंग्रेजी में कक्षा 4 व 5 छोड़कर अन्य कक्षाओं में परिणाम ठीक हैं। गणित में सभी कक्षा में परिणाम बेहतर रहा। ईवीएस में कक्षा तीन, चार व पांच का रिजल्ट ठीक है।

    कक्षा हिन्दी अंग्रेजी गणित ईवीएस

    1 80 74 71 ---

    2 75 69 76 ---

    3 45 53 58 50

    4 48 38 59 58

    5 54 49 51 59

    प्राइमरी कक्षा का विषयवार प्रदर्शन

    अंग्रेजी व गणित में 3 कक्षाओं का प्रदर्शन खराब

    मिडिल में हिंदी में कक्षा 6 में मात्र 36%बच्चे की 50% अंक हासिल कर पाए। अंग्रेजी व गणित में तीन कक्षाओं का प्रदर्शन खराब है। सोशल स्टडी जैसे विषय में भी तीनों कक्षाओं के बच्चे निर्धारित 50% के स्तर के नीचे हैं। साइंस में भी कक्षा छह में 31%, 7 में 29% व आठवीं में 51% बच्चों ने 50% से अधिक अंक पाए।

    कक्षा हिन्दी अंग्रेजी गणित सोशल स्टडी साइंस

    6 36 24 32 26 31

    7 48 28 34 31 29

    8 60 41 31 43 51

    मिडिल कक्षा का विषयवार प्रदर्शन

    भविष्य में होने वाली परीक्षाओं में स्टूडेंट्स के प्रदर्शन को सुधारने के लिए सक्षम हरियाणा को प्रभावी तरीके से लागू कराया जाएगा। कमजोर स्कूलों के बच्चों के शैक्षणिक स्तर सुधारने के लिए लिए प्रयास होगा। -प्रेमलता यादव, नवनियुक्त डीईईओ, गुड़गांव

  • प्रदेश में पहले स्थान पर महेंद्रगढ़, दूसरे पर रेवाड़ी, 51 फीसदी के साथ गुड़गांव ने पाया 5वां स्थान
    +3और स्लाइड देखें
  • प्रदेश में पहले स्थान पर महेंद्रगढ़, दूसरे पर रेवाड़ी, 51 फीसदी के साथ गुड़गांव ने पाया 5वां स्थान
    +3और स्लाइड देखें
  • प्रदेश में पहले स्थान पर महेंद्रगढ़, दूसरे पर रेवाड़ी, 51 फीसदी के साथ गुड़गांव ने पाया 5वां स्थान
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mewat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×