Hindi News »Haryana »Mewat» एसएमओ पुन्हाना को हटाने की मांग को लेकर हड़ताल

एसएमओ पुन्हाना को हटाने की मांग को लेकर हड़ताल

नूह. पुन्हाना सीएचसी में हड़ताल में शामिल कर्मचारी। भास्कर न्यूज|नूंह पुन्हाना सीएचसी में एसएमओ व डॉक्टरों के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 01, 2018, 02:00 AM IST

एसएमओ पुन्हाना को हटाने की मांग को लेकर हड़ताल
नूह. पुन्हाना सीएचसी में हड़ताल में शामिल कर्मचारी।

भास्कर न्यूज|नूंह

पुन्हाना सीएचसी में एसएमओ व डॉक्टरों के बीच नूराकुश्ती का खेल फिर शुरू हो गया। डॉ. मनीष द्वारा एसएमओ का पदभार संभालते ही सीएचसी के सारे डॉक्टर व कर्मचारी हड़ताल पर बैठ गए। हड़ताल के कारण मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। हड़ताली डॉक्टर मनीष को पुन्हाना से हटाने की मांग कर रहे हैं।

आरोप है कि पुन्हाना सीएचसी में एसएमओ पद पर तैनात डॉ. मनीष ने 15 दिन पहले शराब पीकर कर्मचारियों के साथ झगड़ा किया था। महिला कर्मचारियों से अपशब्द कहे थे। इससे नाराज अस्पताल के अन्य डॉक्टर व कर्मचारी हड़ताल कर एसएमओ मनीष गर्ग को कमरे में बंद कर दिया था। हड़ताली कर्मचारी डॉ. गर्ग के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर अड़े हैं। हड़ताल समाप्त करने के लिए डीसी अशोक शर्मा ने एसडीएम जितेंद्र के नेतृत्व में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन कर जांच के आदेश दिए थे। कमेटी ने पुन्हाना सीएचसी में पहुंचकर जांच की और रिपोर्ट डीसी मेवात को सौंप दी। कमेटी ने अपनी जांच में सारे मामले में एसएमओ को दोषी करार दिया। रिपोर्ट के आधार पर डीसी ने स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारियों को डॉ. मनीष के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा। हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों ने जिला प्रशासन की कार्रवाई से संतुष्ट होकर हड़ताल समाप्त कर दी। गुरुवार को जैसे ही डॉ. मनीष ने पुन्हाना ज्वॉइन किया कि अस्पताल के डॉक्टरों व कर्मचारियों में खलबली मच गई। अस्पताल के समस्त डॉक्टर व कर्मचारियों ने हड़ताल शुरू कर दी। हड़ताल पर बैठे यूनुस, डॉ. नवीन, राजेश, ब्रजलाल ने बताया कि जब तक डॉ. मनीष पुन्हाना से वापस नहीं जाएगा। तब तक पुन्हाना सीएचसी में हड़ताल जारी रहेगी।

एसएमओ पर कर्मियों से शराब पी झगड़ा करने और गाली-गलौज का है आरोप

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mewat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×