मेवात

  • Home
  • Haryana News
  • Mewat
  • 9 दिन से हड़ताल पर बैठी सैकड़ों आशा वर्करों ने दी गिरफ्तारियां
--Advertisement--

9 दिन से हड़ताल पर बैठी सैकड़ों आशा वर्करों ने दी गिरफ्तारियां

प्रदेश सरकार एवं आशा वर्कर्स यूनियन के बीच बीते फरवरी को हुए समझौते को लागू करने की मांग को लेकर 9 दिनों से हड़ताल पर...

Danik Bhaskar

Jun 16, 2018, 02:00 AM IST
प्रदेश सरकार एवं आशा वर्कर्स यूनियन के बीच बीते फरवरी को हुए समझौते को लागू करने की मांग को लेकर 9 दिनों से हड़ताल पर बैठी आशा वर्करों ने शुक्रवार को गिरफ्तारियां दी। सुबह सैकड़ों की संख्या में आशा वर्कर्स मिनी सचिवालय पर एकत्रित हुई। यहां पर अन्य दिनों की तरह ही धरने पर बैठ गई। यूनियन की पूर्व घोषणा के अनुसार आशा वर्कर्स ने जेल भरो आंदोलन के तहत मिनी सचिवालय के मुख्य द्वार में प्रवेश करने का प्रयास किया, जिसे भारी पुलिस बल ने रोक लिया तो आशा वर्कर्स ने जिला प्रशासन से आग्रह किया कि उन्हें गिरफ्तार किया जाए। यूनियन की जिलाध्यक्ष मीरा देवी व श्रमिक संगठन सीटू के सतबीर सिंह व एसएल प्रजापति ने भारी संख्या में आशा वर्कर्स के साथ गिरफ्तारियां दी। रोडवेज व पुलिस के करीब एक दर्जन वाहनों में आंदोलनरत आशा वर्कर्स को गिरफ्तार कर ताऊ देवीलाल स्टेडियम ले जाया गया। स्टेडियम को अस्थायी जेल में तब्दील कर दिया गया और आशा वर्कर्स की सूची बनाकर उन्हें गिरफ्तार दर्शाया गया। आशा वर्कर्स ने जिला एवं पुलिस प्रशासन आग्रह किया कि उन्हें जेल भेजा जाए। क्योंकि प्रदेश सरकार ने उनके साथ वायदा खिलाफी की है और समझौते को लागू नहीं किया है, जिस पर जिला प्रशासन ने आंदोलनरत आशा वर्कर्स की संख्या को देखते हुए उन्हें रिहा कर दिया गया और वे स्टेडियम में ही एकत्रित हो गई। उधर, मेवात में आशा वर्करों के धरना प्रदर्शन से मांडीखेड़ा अस्पताल में काफी गर्भवती महिलाओं को दिक्कतें उठानी पड़ रही हैं। जिला अस्पताल मांडीखेड़ा में धरने पर आशा वर्करों ने अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सरकार विरोधी नारेबाजी की। आशा वर्करों ने कुछ दिन पहले भी अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया था।

Click to listen..