• Hindi News
  • Haryana
  • Mewat
  • डेढ़ महीने पहले भोंडसी जेल आए कैदी ने फांसी लगाकर दी जान
--Advertisement--

डेढ़ महीने पहले भोंडसी जेल आए कैदी ने फांसी लगाकर दी जान

भोंडसी जेल में शुक्रवार रात एक कैदी ने फंदा लगाकर जान दे दी। कैदी को 47 दिन पहले ही दहेज हत्या के मामले में गिरफ्तार...

Dainik Bhaskar

Apr 08, 2018, 03:05 AM IST
डेढ़ महीने पहले भोंडसी जेल आए कैदी ने फांसी लगाकर दी जान
भोंडसी जेल में शुक्रवार रात एक कैदी ने फंदा लगाकर जान दे दी। कैदी को 47 दिन पहले ही दहेज हत्या के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। परिजनों ने इरफान की मौत का कारण किसी कैदी द्वारा परेशान किया जाना बताया है। वहीं पुलिस ने अंडर ट्रायल कैदी की मौत के बाद ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में जेल प्रशासन ने कैदी का शव परिजनों को सौंपा। भोंडसी थाना प्रभारी उमेश ने बताया कि 174 की कार्रवाई करते हुए शव परिजनों को सौंप दिया गया है। शनिवार सुबह जेल के कैदियों में उस समय हड़कंप मच गया, जब एक नंबरदार कैदियों के टॉयलेट में पहुंचा। यहां टॉयलेट के रोशनदान के सरिए में इरफान नामक कैदी फंदा लगाकर लटका मिला। इरफान मेवात के पुन्हाना ब्लॉक में पड़ने गौधोला का निवासी है। इरफान 9 फरवरी को भोंडसी जेल आया था। उसकी प|ी ने भी गत 22 जनवरी को फंदा लगाकर जान दे दी थी। प|ी के मायके वालों ने दहेज हत्या का आरोप लगाया और इस मामले में इरफान को आरोपी बनाया गया था। करीब डेढ़ महीने से इरफान जेल में था। परिजनों का आरोप है कि जेल में मिलने के दौरान इरफान ने एक कैदी द्वारा परेशान करने की बात कही थी। लेकिन जेल अधीक्षक जयकिशन छिल्लर ने बताया कि कैदी ने इस बारे में उन्हें कोई शिकायत नहीं दी। परिजनों की मौजदूगी में कैदी के ब्लॉक नंबर 3बी के कैदियों से पूछताछ की गई। इस पर परिजन संतुष्ट हो गए और शव परिजनों को सौंप दिया गया। यह कैदी द्वारा जेल में आत्महत्या का पहला मामला नहीं है, इससे पहले भोंडसी जेल में एक कैदी ने 2 दिसंबर 2016 को भी आत्महत्या की थी।

भास्कर न्यूज| गुड़गांव

भोंडसी जेल में शुक्रवार रात एक कैदी ने फंदा लगाकर जान दे दी। कैदी को 47 दिन पहले ही दहेज हत्या के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। परिजनों ने इरफान की मौत का कारण किसी कैदी द्वारा परेशान किया जाना बताया है। वहीं पुलिस ने अंडर ट्रायल कैदी की मौत के बाद ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में जेल प्रशासन ने कैदी का शव परिजनों को सौंपा। भोंडसी थाना प्रभारी उमेश ने बताया कि 174 की कार्रवाई करते हुए शव परिजनों को सौंप दिया गया है। शनिवार सुबह जेल के कैदियों में उस समय हड़कंप मच गया, जब एक नंबरदार कैदियों के टॉयलेट में पहुंचा। यहां टॉयलेट के रोशनदान के सरिए में इरफान नामक कैदी फंदा लगाकर लटका मिला। इरफान मेवात के पुन्हाना ब्लॉक में पड़ने गौधोला का निवासी है। इरफान 9 फरवरी को भोंडसी जेल आया था। उसकी प|ी ने भी गत 22 जनवरी को फंदा लगाकर जान दे दी थी। प|ी के मायके वालों ने दहेज हत्या का आरोप लगाया और इस मामले में इरफान को आरोपी बनाया गया था। करीब डेढ़ महीने से इरफान जेल में था। परिजनों का आरोप है कि जेल में मिलने के दौरान इरफान ने एक कैदी द्वारा परेशान करने की बात कही थी। लेकिन जेल अधीक्षक जयकिशन छिल्लर ने बताया कि कैदी ने इस बारे में उन्हें कोई शिकायत नहीं दी। परिजनों की मौजदूगी में कैदी के ब्लॉक नंबर 3बी के कैदियों से पूछताछ की गई। इस पर परिजन संतुष्ट हो गए और शव परिजनों को सौंप दिया गया। यह कैदी द्वारा जेल में आत्महत्या का पहला मामला नहीं है, इससे पहले भोंडसी जेल में एक कैदी ने 2 दिसंबर 2016 को भी आत्महत्या की थी।

गुड़गांव. भोंडसी जेल में कैदी की मौत होने के बाद उसके शव को एंबुलेंस से ले जाते हुए उसके परिजन।

X
डेढ़ महीने पहले भोंडसी जेल आए कैदी ने फांसी लगाकर दी जान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..