Hindi News »Haryana »Naraingarh» गुरुद्वारा टोका साहिब की जमीन और इनकम को लेकर प्रबंधक कमेटी व संगत में विवाद

गुरुद्वारा टोका साहिब की जमीन और इनकम को लेकर प्रबंधक कमेटी व संगत में विवाद

गुरुद्वारा टोका साहिब की जमीन और इनकम को लेकर प्रबंधक कमेटी व संगत में विवाद पैदा हो गया है। दोनों पक्ष एक दूसरे पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:35 AM IST

गुरुद्वारा टोका साहिब की जमीन और इनकम को लेकर प्रबंधक कमेटी व संगत में विवाद
गुरुद्वारा टोका साहिब की जमीन और इनकम को लेकर प्रबंधक कमेटी व संगत में विवाद पैदा हो गया है। दोनों पक्ष एक दूसरे पर गंभीर आरोप लगा रहे हैं। शनिवार को गुरुद्वारा साहिब परिसर में बढ़ते तनाव के मद्देनजर मौके पर पंहुचे नाहन प्रशासन (हिमाचल) ने हस्तक्षेप कर मामले को शांत किया है। विवेक कुमार एसडीएम नाहन व एएसपी वीरेंद्र सिंह ने दोनों पक्षों को शांति बनाए रखने की अपील की है।

गुरुद्वारा टोका साहिब की जमीन, नवनिर्माण और इनकम को लेकर प्रबंधक कमेटी और संगत में विवाद पैदा हो गया है। प्रबंधक कमेटी का आरोप है गुरुद्वारा साहिब के सेवादार बाबा सूखा सिंह व उनके समर्थक हरियाणा की साढ़े नौ एकड़ और हिमाचल में 274 जमीन पर कब्जा जमाना चाहते हैं। प्रबंधक कमेटी ने बाबा सूखा सिंह को 10 साल के लिए सेवा दी थी और उनका कार्यकाल 13 अप्रैल को समाप्त होना है। जैसे जैसे तारीख नजदीक आ रही है वैसे ही बाबा सूखा सिंह बाहर से लोगों को बुलाकर जमीन पर कब्जा जमाने और गुरुद्वारा साहिब की मर्यादा को ठेस पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं। प्रबंधक कमेटी के प्रधान सतनाम सिंह भाटिया और सचिव गुरजंट सिंह का आरोप है कि पिछले कई सालों से जमीन की कमाई के साथ साथ 300 बोरी गेहूं, 300 बोरी धान, उगाही, गन्ने के पांच लाख रुपए करनाल में भेजे जा रहे हैं। कमेटी के विरोध करने पर बाबा सूखा सिंह के समर्थक झगड़ा करने और व्यवस्था को बिगाडऩे का प्रयास कर रहे हैं। नाहन प्रशासन ने गुरुद्वारा साहिब में शांति व्यवस्था कायम करने के लिए दोनों पक्षों को समझाया है। एसडीएम विवेक ने कहा है कि बैसाखी तक संगत के 11 लोग प्रबंधक कमेटी के साथ मिलकर काम करेंगे।

नहीं थी गुरुद्वारा साहिब के नवनिर्माण की जरूरत: संगत-संगत का आरोप है कि प्रबंधक कमेटी बेवजह नए गुरुद्वारा साहिब का निर्माण कर रही है। इस बारे में न तो संगत की राय ली गई और न ही बाबा सुखा सिंह से विचार विमर्श किया गया है। गुरुद्वारा साहिब की इमारत को गिरा दिया गया है, जबकि वह सही हालत में थी। संगत का कहना है कि इससे पैसे की बर्बादी होगी। आरोप है कि प्रबंधक कमेटी पैसे का बड़े स्तर पर दुरुपयोग कर रही है। गुरुद्वारा साहिब में लंबे अर्से से काम कर रहे कर्मचारियों को अस्थाई बताया गया है।

नारायणगढ़ में मामले की जानकारी देते गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्य।

नारायणगढ़ में प्रबंधक कमेटी से बात करते प्रशासनिक अधिकारी।

दोनों पक्षों से अपील है कि शांति बनाए रखें और कानून का सम्मान करें। यदि कोई भी कानून का उल्लंघन करेगा तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। वीरेंद्र सिंह, एएसपी, नाहन, हिमाचल प्रदेश।

नियमानुसार नहीं हो रहा काम

संगत का आरोप है कि सिख धर्म के विस्तार के लिए कोई कार्य नहीं किया जा रहा है। किसी भी जरूरतमंद को न शिक्षा प्रदान की जा रही है और ना ही कोई कॉलेज या स्कूल की स्थापना की गई है। जिसके चलते संगत को विश्वास प्रबंधक कमेटी पर नहीं रहा है। इलाका संगत प्रबंधक कमेटी के खातों का ऑडिट करवाना चाहती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Naraingarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×