--Advertisement--

पुलिस के खिलाफ जन अधिकार न्याय मंच गठित

नारायणगढ़ में पिछले काफी समय से पुलिस-प्रशासन की ज्यादती से परेशान समाज के विभिन्न वर्ग के लोगों ने शुक्रवार देर...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:35 AM IST
नारायणगढ़ में पिछले काफी समय से पुलिस-प्रशासन की ज्यादती से परेशान समाज के विभिन्न वर्ग के लोगों ने शुक्रवार देर सायं बैठक की। बैठक में कहा गया कि पिछले काफी समय से नारायणगढ़ में आम जनता इंसाफ से महरूम होती जा रही है। लोगों को न तो पुलिस से इंसाफ मिल रहा है और न प्रशासन से। पिछले काफी अर्से से लोगों को परेशान होकर धरने-प्रदर्शन का सहारा लेना पड़ रहा है।

बैठक में कहा कि पुलिस-प्रशासन पर राजनीतिक लोग हावी होते जा रहे हैं। राजनीतिक दबाव में निर्दोष लोगों पर झूठे और फर्जी केस बनाए जा रहे हैं। उदाहरण देते हुए बताया गया कि पुलिस ने हाल में ही सोशल मीडिया पर आई एक पोस्ट को आधार बनाकर उन 14 लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं, जिन्हें केवल पोस्ट में टैग किया गया था। यह सरासर आम जनता की आवाज को दबाने का प्रयास है। बैठक में विचार-विमर्श के बाद सामाजिक मंच के गठन का निर्णय लिया गया कि जो निर्दोष लोगों को पुलिस-प्रशासन द्वारा किए जा रहे अन्याय के खिलाफ मदद करेगा। सभी ने सर्वसम्मति से जन अधिकार न्याय मंच का गठन किया। बैठक में सतीश सेठी, एडवोकेट सुखविंदर नारा, एडवोकेट धर्मवीर ढींढसा, एडवोकेट जाहर सिंह, रमेश नन्हेड़ा, शिविश वशिष्ठ, मदन चानना, कमल भट्टी, हमीर सिंह, हरविंद्र सिंह, धर्मवीर भसीन, एडवोकेट धर्मवीर धीमान, अंशुल वालिया, आकाश वालिया, विक्रम सैनी, बरखाराम धीमान, अमित व विकास मौजूद थे।

नारायणगढ़ में बैठक करते सामाजिक लोग।