--Advertisement--

गुरु रविदास ने किया था

गुरु रविदास ने किया था जात-पात का खंडन गुरु रविदास महासभा द्वारा मोहल्ला ढींढासर स्थित रविदास मंदिर में...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:40 AM IST
गुरु रविदास ने किया था

जात-पात का खंडन

गुरु रविदास महासभा द्वारा मोहल्ला ढींढासर स्थित रविदास मंदिर में संत रविदास का जन्मोत्सव हर्षोल्लासपूर्वक मनाया गया। इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि समाजसेवी डा. गजेसिंह चौपड़ा ने संत शिरोमणि के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें शत-शत नमन किया। उन्होंने कहा कि गुरु रविदास ने जात-पात का खंडन किया था और मानवता को सबसे बड़ा धर्म माना था। उन्होंने कहा कि शिक्षा ही मनुष्य के विकास का आधार है। इसलिए समाज जात-पात के चक्कर में पड़ने की बजाए अपने बच्चों की उच्च शिक्षा दिलाएं और एक-दूसरे की मदद करें। पूर्व तहसीलदार लालाराम नाहर ने भी जातिगत बंधनों से ऊपर उठकर समाज को मजबूत बनाने पर जोर दिया। महंत बालक दास के सानिध्य में आयोजित समारोह की अध्यक्षता गुरु रविदास महासभा के पूर्व प्रधान सूबेदार फूलचंद ने की। एसबीआई के चीफ मैनेजर एवं एससीएसटी कर्मचारी कल्याण संघ के जिला प्रधान जयनारायण एवं तहसील कल्याण अधिकारी सुमेर सिंह चौहान विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद थे। इस मौके पर गुरु रविदास महासभा के प्रधान अशोक दास नारनौलिया, हैफेड के जीएम रामकुमार, एलआईसी के मैनेजर एसएस राघव, अनीता तंवर, शिव नारायण मोरवाल, पूर्व प्रधान रामनिवास निंबल व सुरेंद्र नारनौलिया समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..