• Hindi News
  • Haryana News
  • Nijampur
  • सिंचाई के पानी को लेकर 50 गांवों की महापंचायत 31 को, सीएम को भेजेंगे पत्र
--Advertisement--

सिंचाई के पानी को लेकर 50 गांवों की महापंचायत 31 को, सीएम को भेजेंगे पत्र

निजामपुर | गांव नियाजलीपुर में मंगलवार को नहरी पानी विकास समिति की बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता समिति के अध्यक्ष...

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2018, 02:25 AM IST
निजामपुर | गांव नियाजलीपुर में मंगलवार को नहरी पानी विकास समिति की बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व थानेदार महाबीर ने की। बैठक में नहरी पानी के मुद्दे पर विचार विमर्श किया गया। बैठक में प्रधान ने कहा कि कर इस क्षेत्र में अभी तक नहरी पानी नहीं पहुंचने के कारण यहां के किसानों की जमीन बंजर हो गई है। यहां के किसान वर्षा पर आधारित खेती करते हैं। इस वर्ष वर्षा की कमी के कारण फसलों की बुवाई नहीं हो पाई है। ऐसे में सरकार से नलवाटी गुर्जरवाटी के गांवों को नहरों से जोड़ कर पानी पहुंचाया जाए। इसके लिए 31 जनवरी को निजामपुर में पंचायत का आयोजन किया जाएगा। इसके बाद विधायक के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के 50 गांव आज भी नहरी पानी से वंचित हैं। जिन गांवों में नहर बन चुकी है उनमें भी अभी तक टेल तक पानी नहीं पहुंचा है। जबकि जिले को पहले से अधिक नहरी पानी मिला है। फिर भी हमारा क्षेत्र नहरी पानी से वंचित रह जाता है। यह क्षेत्र जिले महेंद्रगढ़ का ही नहीं बल्कि हरियाणा का सबसे पिछड़ा क्षेत्र है। यहां के निवासियों का मुख्य कार्य खेती बाड़ी व पशुपालन का है। और यह पानी के बिना नहीं हो सकता है। आज यहां के किसानों के लिए मवेशियों के चारे पानी की समस्या बनी हुई है। इस कारण उन्होंने अपने मवेशियों को औने पौने दामों में बेचना शुरू कर दिया है। आज कड़बी के भाव 2 सौ रुपए प्रति मण है। इसकी कटाई करके कुटी 2 सौ 50 रुपए प्रति मण के हिसाब से पड़ रही है। ऐसे में यहां आम आदमी प्रभावित हो रहा है। पिछले 3 वर्षों से वर्षा की कमी के कारण इस क्षेत्र में फसलों की पैदावार नहीं हो रही है। इसकी वजह से यह क्षेत्र पिछड़ता जा रहा है। इस समस्या को देखते हुए 31 जनवरी को निजामपुर में महापंचायत होगी। जिसके माध्यम से विधायक डॉ. अभयसिंह को मुख्यमंत्री के नाम से ज्ञापन सौंपा जाएगा।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..