• Home
  • Haryana News
  • Nijampur
  • लाख कोशिश के बाद भी नहीं लग रहा ओवरलोड वाहनों पर अंकुश
--Advertisement--

लाख कोशिश के बाद भी नहीं लग रहा ओवरलोड वाहनों पर अंकुश

निजामपुर | ओवरलोड वाहनों पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन जी तोड़ मेहनत कर रहा है, लेकिन फिर भी इन पर अंकुश नहीं लग...

Danik Bhaskar | Apr 08, 2018, 02:50 AM IST
निजामपुर | ओवरलोड वाहनों पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन जी तोड़ मेहनत कर रहा है, लेकिन फिर भी इन पर अंकुश नहीं लग रहा है। ओवरलोड वाहनों के कारण निजामपुर मंडी व चौक के दुकानदार खासे परेशान हैं।

रोड़ी, डस्ट, पत्थर आदि भवन निर्माण सामग्री लेकर राजस्थान बॉर्डर से आने वाले वाहन निजामपुर होकर गुजरते हैं। ये वाहन ओवरलोड होते हैं। जब भी इनको चेकिंग की भनक लगती है तो चालक इन वाहनों को सड़क किनारे या होटलों पर खड़े करना शुरू कर देते हैं। और देखते ही देखते इनकी लंबी लाइन लग जाती है। इनकी वजह से जाम जैसे हालात बने रहते हैं। कोई चेकिंग टीम आती है तो ये सड़कों से गायब हो जाते हैं। ओवरलोड वाहन चालकों का नेटवर्क इतना मजबूत है कि उनको चेकिंग टीम की पल-पल की जानकारी होती है। उसी के आधार पर वे अपने वाहनों के आवागमन की दिशा तय कर लेते हैं। क्षेत्र निवासी राहुल, हंसराज, जुगलाल, दिनेश, रतन, पवन ने बताया कि जब भी प्रशासन की कोई टीम चेकिंग के लिए आती है तो ये ओवरलोड वाहन गायब हो जाते हैं, लेकिन जैसे ही प्रशासन की टीम यहां से रवाना होती है तब ये वाहन दिनदहाड़े निजामपुर मंडी से होकर गुजरते रहते हैं। इनको रोकने वाला कोई नहीं है। ऐसे में स्थानीय दुकानदार इन ओवरलोड वाहनों के कारण खासे परेशान हैं। आए दिन जाम लगते रहते हैं। जाम नहीं लगता तो जाम जैसे हालात बने रहते हैं। इनकी वजह से धूल-उड़ती रहती है। इस कारण इनके पीछे चलने वाले दुपहिया वाहनों का तो चलना ही मुश्किल हो जाता है। ना तो साइड मिल पाती है और ना ही क्रॉस कर पाते हैं। इससे हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। धूल की वजह से दुकानों पर बैठना भी मुश्किल हो जाता है। लोगों की मांग है कि ओवरलोड वाहनों पर पूर्ण अंकुश लगाया जाए।