निसिंग

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Nising
  • धान की फसल में कीट नाशकों के ज्यादा प्रयोग से होती हैं बीमारियां : राणा
--Advertisement--

धान की फसल में कीट नाशकों के ज्यादा प्रयोग से होती हैं बीमारियां : राणा

सहायक कृषि तकनीकी प्रबंधक रवि राणा ने कहा कि धान की फसल में डाले जाने वाले उर्वरकों के अत्याधिक इस्तेमाल से फसल...

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2018, 03:20 AM IST
सहायक कृषि तकनीकी प्रबंधक रवि राणा ने कहा कि धान की फसल में डाले जाने वाले उर्वरकों के अत्याधिक इस्तेमाल से फसल में कई बीमारियां आती है। जिनसे फसल उत्पादन प्रभावित होता है। फसल में तीन से चार बैग यूरिया डालने से थोड़े समय में धान का पौधा फुटाव तो अधिक कर लेता है, लेकिन फसल का पौधा नर्म पड़ जाता है। पत्तों के अधिक फुटाव से फसल में हवा का प्रवेश नहीं हो पाता। जिस कारण धान को तनाछेदक, शीत ब्लाइट , तेला व कीट पतंगों सहित अन्य कई बीमारियां अपनी चपेट में ले लेती है। जिससे धान की पैदावार व गुणवत्ता में भारी कमी आती है। फसल में आई बीमारियों पर काबू पाने के लिए किसानों को अधिक मात्रा में केमिकल्स दवाईयों का प्रयोग करना पड़ता है। जिससे किसानों को आर्थिक हानी होने के साथ साथ हमारा पर्यावरण भी प्रदूषित होता है। किसानों को फसलों में उर्वरकों का प्रयोग कृषि अधिकारियों के परामर्शानुसार उचित मात्रा में करना चाहिए।

X
Click to listen..