Hindi News »Haryana »Nising» बस्तली गांव के श्मशानघाट के रास्ते में भरा पानी

बस्तली गांव के श्मशानघाट के रास्ते में भरा पानी

निसिंग | गांव बस्तली के बाल्मीकि समाज व हरिजन समाज के शमशानघाट की ओर जाने वाला कच्चा रास्ता बरसात के दिनों में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 15, 2018, 04:20 AM IST

निसिंग | गांव बस्तली के बाल्मीकि समाज व हरिजन समाज के शमशानघाट की ओर जाने वाला कच्चा रास्ता बरसात के दिनों में लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। इतना ही नहीं बरसात के दिनों में शमशानघाट पर मृतक व्यक्ति का अंतिम संस्कार खुले आसमान में नहीं किया जा सकता। वाल्मीकि समाज व हरिजन समाज के ग्रामीणों में फूल सिंह, गजे सिंह, इंद्र सिंह, राजबीर, रामकिशन सुल्तान, बलवान, राजा, बल्ली राम, रमेश, धनसिंह, कली राम सहित अन्य ने ग्राम पंचायत पर आरोप लगाया कि कई वर्ष से दोनों सामुदाय का शमशानघाट व उसका कच्चा रास्ता बरसात के दिनों में लोगों के लिए मुसीबत बना हुआ है। 22 वर्षीय महिला पूनम की डिलीवरी के समय मौत हो गई, जिसका अंतिम संस्कार के समय गांव में तेज बरसात चल रही थी। दोनों सामुदाय के लोगों ने कच्चे रास्ते व बिना शेड के शमशानघाट में संस्कार किया। कच्चे रास्ते पर कोई भी वाहन शमशानघाट तक नहीं पहुंच पाता है। उन्होंने ग्राम पंचायत से मांग की है कि इन दोनों सामुदायों को इस समस्या से निजात दिलवाई जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nising

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×