• Hindi News
  • Haryana
  • Panchkula
  • 1273 स्टूडेंट्स ने पंचकूला में बनाया वर्ल्ड की सबसे बड़ी रोबोटिक्स क्लासरूम का रिकॉर्ड
--Advertisement--

1273 स्टूडेंट्स ने पंचकूला में बनाया वर्ल्ड की सबसे बड़ी रोबोटिक्स क्लासरूम का रिकॉर्ड

Panchkula News - पंचकूला के इंद्रधनुष ऑडिटोरियम, सेक्टर-5 में मंगलवार को रोबोट क्लास में ट्राईसिटी के 1273 स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया।...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:15 AM IST
1273 स्टूडेंट्स ने पंचकूला में बनाया वर्ल्ड की सबसे बड़ी रोबोटिक्स क्लासरूम का रिकॉर्ड
पंचकूला के इंद्रधनुष ऑडिटोरियम, सेक्टर-5 में मंगलवार को रोबोट क्लास में ट्राईसिटी के 1273 स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया। इसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में स्थान दिया जाएगा। इससे पहले 880 स्टूडेंट्स की रोबोट क्लास का रिकॉर्ड कोलंबो में बना था जिसे पंचकूला में सफलतापूर्वक तोड़ दिया गया। इस रिकॉर्ड को बनाने के लिए रोबो चैम्प्स की ओर से स्टूडेंट्स को रोबोटिक्स की किट दी गई थी। इस किट से स्टूडेंट्स ने रोबोट बनाए। रोबो चैंप्स के संस्थापक अक्षय आहूजा ने बताया कि इस रिकॉर्ड के लिए गिनीज बुक की ओर से हिस्सा लेने वाले सभी स्टूडेंट्स को सर्टिफिकेट दिया जाएगा, जिसे स्टूडेंट्स तक पहुंचा दिया जाएगा। स्टूडेंट्स के लिए इतनी छोटी उम्र में यह सर्टिफिकेट हासिल करना गर्व की बात होगी। गिनीज बुक की ओर से अब तक विभिन्न रिकॉर्ड कायम करने के लिए भारत में सिर्फ 77 सर्टिफिकेट ही दिए गए हैं। यह राष्ट्रीय स्तर पर पहला अवसर है जब एक साथ 1273 स्टूडेंट्स को सर्टिफिकेट दिए जाएंगे।

स्टूडेंट्स को पहले प्रैक्टिकल ट्रेनिंग दी गई : रिकॉर्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू करने से पहले सभी स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल ट्रेनिंग दी गई। रोबोट बनाने के लिए स्टूडेंट्स को साइंस एंड मैथ्स के 20 टॉपिक की जानकारी दी गई। ट्रेनिंग सेशन प्रेक्टिकल ओरिएंटेड होने के कारण इसमें स्टूडेंट्स को काफी कुछ नया सिखने को मिला। स्टूडेंट्स को रोबोट क्या है, रोबोट क्या करता है, जैसे प्रश्नों के जवाब भी दिए गए। उन्हें बताया गया कि मैकेनिकल स्ट्रक्चर, इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर्स को मिलाकर बनी मशीन ही रोबोट कहलाती है जोकि हमारी रोजमर्रा की लाइफ को सरल बना रही है। स्टूडेंट्स को बताया गया कि हमें मार्क्स के पीछे भागने के बजाय नॉलेज के पीछे भागना चाहिए। अगर हमारे पास नॉलेज होगी तो सक्सेस मिलना तय हैं।

एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स में रट्‌टा मार कर पढ़ाने के बजाय ब्रेन एक्टिविटीज ज्यादा होनी चाहिए: कौटिल्य

इस इवेंट में गुगल ब्वॉय कौटिल्य पंडित ने भी हिस्सा लिया। स्टूडेंट्स को संबोधित करते हुए कौटिल्य ने कहा कि यूरोपियन देशों मे रिसर्च को काफी महत्व दिया जाता है। वहां की सरकारें रिसर्च पर काफी खर्च करती हैं। भारत में भी रिसर्च को महत्व दिया जाना चाहिए, जिससे यह देश विकसित देशों की श्रेणी में खड़ा हो सकेगा। रिसर्च पर जोर देने से ही यह देश 1500 साल पहले की तरह दोबारा विश्व गुरु बन सकेगा। उन्होंने कहा कि एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स में रट्‌टा मार कर पढ़ाने के बजाए ब्रेन एक्टिविटीज ज्यादा होनी चाहिए।

X
1273 स्टूडेंट्स ने पंचकूला में बनाया वर्ल्ड की सबसे बड़ी रोबोटिक्स क्लासरूम का रिकॉर्ड
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..