• Home
  • Haryana News
  • Panchkula
  • श्री राधा माधव मन्दिर, सेक्टर 4 में तीन दिवसीय भगवान शिव कथा
--Advertisement--

श्री राधा माधव मन्दिर, सेक्टर 4 में तीन दिवसीय भगवान शिव कथा

श्री राधा माधव मन्दिर, सेक्टर 4 की ओर से शिवालय स्थापना के वार्षिक उत्सव पर मन्दिर परिसर में तीन दिवसीय भगवान शिव...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:05 AM IST
श्री राधा माधव मन्दिर, सेक्टर 4 की ओर से शिवालय स्थापना के वार्षिक उत्सव पर मन्दिर परिसर में तीन दिवसीय भगवान शिव कथा का आयोजन किया गया। इसके पहले दिन दिव्य ज्योति जागृति संस्थान के संस्थापक आशुतोष महाराज की शिष्या साध्वी मनस्विनी भारती ने सती प्रसंग का वर्णन सुनाते हुए कहा कि प्रत्येक मनुष्य को जीवन में प्रभु कथा के लिए समय निकालना चाहिए। कथा के माध्यम से ही एक इंसान को अपने जीवन की वास्तविकता का बोध होता है। अमुल्य जीवन मात्र सांसारिक क्रियाकलापों या मौज-मस्ती के लिए नहीं मिला है। इसका परम ध्येय है-ईश्वर की प्राप्ति करना।

हाईवे से आने-जाने वाले वाहन चालकों की अांखों का किया चेकअप

हाईवे से आने-जाने वाले वाहन चालकों की अांखों का किया चेकअप

पंचकूला|नेशनल हाईवे अथॉरिटी आॅफ इंडिया की ओर से मंगलवार को फ्री आई चैकअप कैम्प आयोजन किया गया। यह कैम्प मट्‌टावाला गांव में सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक आयोजित किया गया। इसमें हाईवे से आ-जा रहे ट्रक ड्राइवर्स व अन्य वाहन चालकों की आंखें चेक की गई। डॉ. जीत सिंह व उनकी टीम ने चेकअप किया। एनएचएआई के प्रोजेक्ट मैनेजर अमित सिंह, मेटीरियल इंजीनियर रामेश्वर लाल, हाईवे इंजीनियर राजेश पाल, डिप्टी प्रोजेक्ट मैनेजर राजीव कुमार पाल, मेसर्स योंगमा इंजीनियर लिमिटेड से टीम लीडर केके वाई महिंद्रकर, ब्रिज इंजीनियर जीके राजेंद्रन, लैब टेक्निशियन संजय कुमार मौजूद रहे।

पंचकूला|नेशनल हाईवे अथॉरिटी आॅफ इंडिया की ओर से मंगलवार को फ्री आई चैकअप कैम्प आयोजन किया गया। यह कैम्प मट्‌टावाला गांव में सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक आयोजित किया गया। इसमें हाईवे से आ-जा रहे ट्रक ड्राइवर्स व अन्य वाहन चालकों की आंखें चेक की गई। डॉ. जीत सिंह व उनकी टीम ने चेकअप किया। एनएचएआई के प्रोजेक्ट मैनेजर अमित सिंह, मेटीरियल इंजीनियर रामेश्वर लाल, हाईवे इंजीनियर राजेश पाल, डिप्टी प्रोजेक्ट मैनेजर राजीव कुमार पाल, मेसर्स योंगमा इंजीनियर लिमिटेड से टीम लीडर केके वाई महिंद्रकर, ब्रिज इंजीनियर जीके राजेंद्रन, लैब टेक्निशियन संजय कुमार मौजूद रहे।