Hindi News »Haryana »Panchkula» सेक्टर-11 की रेहड़ी मार्केट के पीछे छोटा हरिपुर में मंदिर व 5 मकान तोड़े

सेक्टर-11 की रेहड़ी मार्केट के पीछे छोटा हरिपुर में मंदिर व 5 मकान तोड़े

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) की टीम ने मंगलवार को सेक्टर-11 की रेहड़ी मार्केट की बैक साइड में छोटा हरिपुर...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 02:05 AM IST

  • सेक्टर-11 की रेहड़ी मार्केट के पीछे छोटा हरिपुर में मंदिर व 5 मकान तोड़े
    +1और स्लाइड देखें
    हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) की टीम ने मंगलवार को सेक्टर-11 की रेहड़ी मार्केट की बैक साइड में छोटा हरिपुर गांव में अवैध रूप से बनाए गए 5 मकानों और एक मंदिर को तोड़ दिया है। यहां जमीन पर कब्जा ले लिया है। वहीं लोग दावा कर रहे थे कि वे साल 1980 से रह रहे हैं। डॉक्यूमेंट्स हैं, लेकिन वो एचएसवीपी की टीम को ये सब दिखा नहीं पाए।

    एन्क्रोचमेंट टीम मंदिर को तोड़ रही थी तो सभी डर रहे थे। एचएसवीपी के कर्मचारियों से लेकर पुलिस की टीम, कोई भी मंदिर में मूर्तियों को निकालने तक को तैयार नहीं था। इसके बाद इस्टेट ऑफिसर ने सख्ती दिखाई तब जाकर सामान को निकलवाया गया।

    असल में पंचकूला को जब बसाया गया था तो कई सेक्टरों में कई गांव होते थे, जिन्हें उठाया गया था। इसी दौरान सेक्टर-11 स्थित छोटा हरिपुर के लोगों भी हटाया गया था। कुछ लोग थे, जो यहां से हटे ही नहीं। ये लोग अभी भी यहां रह रहे थे।

    मंदिर से मूर्तियां निकालने के दौरान डरी पूरी टीम - यहां जमीन पर कब्जा लेने के दौरान बीच में मंदिर भी था। मंदिर को भी तोड़ा जाना था। मंदिर से मूर्तियों को निकालने के लिए कहा गया, लेकिन हनुमान जी के मंदिर से जब मूर्ति को निकाला जाना था तो कोई भी कर्मचारी आगे जाने को राजी ही नहीं हो रहा था। एचएसवीपी के कर्मचारियों और अफसरों से लेकर पुलिसकर्मी कोई भी आगे आने को तैयार ही नहीं था। इस्टेट ऑफिसर विमलदीप को बार-बार बोलना पड़ रहा था। इसके बाद कर्मचारी आगे बढ़े और मूर्तियों को बाहर निकाला गया।

    निगम ने 4 सेक्टरों में लगवाए अंडरग्राउंड डस्टबिन

    पंचकूला | नगर निगम ने सेक्टर 15 की मार्केट के अलावा सेक्टर 20 की मार्केट, सेक्टर 8 और 9 की लाइट्स के निकट और सेक्टर 25 की मार्केट में अंडरग्राउंड डस्टबिन लगाए हैं। अभी 4 अंडरग्राउंड डस्टबिन लगवाए हैं। भविष्य में शहर के अन्य सेक्टरों में भी ये डस्टबिन लगवाए जाएंगे। सेक्टर 15 की मार्केट में लगाए गए अंडरग्राउंड डस्टबिन का पंचकूला के विधायक ज्ञानचंद गुप्ता उद्घाटन करेंगे। अंडरग्राउंड डस्टबिन से खुद ही गाड़ियों में कचरा लोड हो जाएगा। इनमें सैंसर लगे होंगे। जैसे ही कचरा उठाने वाली गाड़ी अंडरग्राउंड डस्टबिन के निकट पार्क होगी तो हाइड्रॉलिक सिस्टम से यह डस्टबिन सारा कचरा डम्पर-प्लेसर या ट्रैक्टर-ट्रॉली में डाल देगा। पंचकूला नगर निगम के कमिश्नर राजेश जोगपाल का कहना है कि इनमें हाइड्रोलिक सिस्टम होने से कचरा उठाने आई गाड़ी में कचरे की लोडिंग भी अासान होगी। बारिश के दिनों में इनमें पानी भरने जैसी कोई समस्या नहीं होगी क्योंकि यह ऊपर से ढके होंगे।

    जमीन खाली करवाई, साथ के साथ तारबंदी की गई

    लोगों का दावा-हमारे बुजुर्ग रहते थे यहां, जमीन हमारी है... यहां रहने वालों में गुरमीत सिंह, सुरेंद्र सिंह , हरभजन रामा सैणी ने बताया कि उनके बुजुर्ग यहां रहते थे। वे भी बुजुर्गों के बनाए मकानों में रह रहे हैं। एचएसवीपी ने मंगलवार को यहां आकर हमारे घरों को तोड़ दिया। हमें कोई नोटिस नहीं दिया गया और न ही पहले बताया गया। टीम आई और हमारे सामान को बाहर निकलवाया। इसकेे बाद तोड़फोड़ शुरू। हम लोगों ने कोर्ट में केस डाला हुआ था, जिसके बारे में हमारे पास डॉक्यूमेंट्स भी हैं, लेकिन हमारी बात को कोई सुन ही नहीं रहा है। यहां लोगों के साथ धोखा किया गया है। मंदिर को भी तोड़ दिया गया है।

    सिटी रिपोर्टर | पंचकूला

    हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) की टीम ने मंगलवार को सेक्टर-11 की रेहड़ी मार्केट की बैक साइड में छोटा हरिपुर गांव में अवैध रूप से बनाए गए 5 मकानों और एक मंदिर को तोड़ दिया है। यहां जमीन पर कब्जा ले लिया है। वहीं लोग दावा कर रहे थे कि वे साल 1980 से रह रहे हैं। डॉक्यूमेंट्स हैं, लेकिन वो एचएसवीपी की टीम को ये सब दिखा नहीं पाए।

    एन्क्रोचमेंट टीम मंदिर को तोड़ रही थी तो सभी डर रहे थे। एचएसवीपी के कर्मचारियों से लेकर पुलिस की टीम, कोई भी मंदिर में मूर्तियों को निकालने तक को तैयार नहीं था। इसके बाद इस्टेट ऑफिसर ने सख्ती दिखाई तब जाकर सामान को निकलवाया गया।

    असल में पंचकूला को जब बसाया गया था तो कई सेक्टरों में कई गांव होते थे, जिन्हें उठाया गया था। इसी दौरान सेक्टर-11 स्थित छोटा हरिपुर के लोगों भी हटाया गया था। कुछ लोग थे, जो यहां से हटे ही नहीं। ये लोग अभी भी यहां रह रहे थे।

    मंदिर से मूर्तियां निकालने के दौरान डरी पूरी टीम - यहां जमीन पर कब्जा लेने के दौरान बीच में मंदिर भी था। मंदिर को भी तोड़ा जाना था। मंदिर से मूर्तियों को निकालने के लिए कहा गया, लेकिन हनुमान जी के मंदिर से जब मूर्ति को निकाला जाना था तो कोई भी कर्मचारी आगे जाने को राजी ही नहीं हो रहा था। एचएसवीपी के कर्मचारियों और अफसरों से लेकर पुलिसकर्मी कोई भी आगे आने को तैयार ही नहीं था। इस्टेट ऑफिसर विमलदीप को बार-बार बोलना पड़ रहा था। इसके बाद कर्मचारी आगे बढ़े और मूर्तियों को बाहर निकाला गया।

    इस्टेट अफसर बोले-कब्जा किया हुआ था... एचएसवीपी के इस्टेट ऑफिसर विमलदीप ने बताया कि यहां एचएसवीपी की जमीन थी। इस पर लोगों ने कब्जा कर घर बनाए हुए थे। जमीन खाली करने के लिए कई बार नोटिस भी दिए जा चुके थे। इस पूरी जमीन में 20 प्लॉट्स की साइट्स है, जिसे अब खाली करवा दिया गया है। यहां पर तारबंदी साथ के साथ करवाई जा रही है। ताकि यहां पर प्लॉट्स को अलॉट किया जा सके। इन्हें अगली रेजिडेंशियल ऑक्शन में शामिल किया जाएगा। इस जमीन को बड़ी जद्दोजहद के बाद खाली करवाया जा सका है।

    ऐसे एटीएम लगेंगे जिसमें प्लास्टिक का कचरा फेंकने पर मिलेंगे पैसे

    पंचकूला | निगम ने ऐसी मशीन खरीदने का फैसला किया है जिसमें प्लास्टिक का कचरा फेंकने पर लोगों को पैसा भी मिलेगा। यह मशीन देखने में एटीएम की तरह की होगी। इसमें लोग प्लास्टिक की बॉटल, प्लास्टिक के गिलास, चिप्स, नमकीन के खाली पैकेट डाल सकेंगे। इसके बदले में उन्हें निर्धारित पैसे मिलेंगे। रेग पिकर्स को इससे फायदा होगा। वह गली गली घूमकर एकत्र किया प्लास्टिक का कचरा इसमें डालकर कमाई कर सकेंगे। निगम इस मशीन को लगाने के लिए एजेंसियों से आवेदन मांगेगा।

  • सेक्टर-11 की रेहड़ी मार्केट के पीछे छोटा हरिपुर में मंदिर व 5 मकान तोड़े
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panchkula

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×