पानीपत

--Advertisement--

नए आइडियाज का दिखा अभाव, चलती योजनाओं पर ही पीठ थपथपा रही सरकार

5 सितारा होटल में रुकी राज्य की भाजपा सरकार के चिंतन में दूसरे दिन भी नए आइडियाज का अभाव नजर आया।

Danik Bhaskar

Dec 17, 2017, 07:23 AM IST

चंडीगढ़/ पानीपत। हिमाचल की पहाडिय़ों में टिंबर ट्रेल के 5 सितारा होटल में रुकी राज्य की भाजपा सरकार के चिंतन में दूसरे दिन भी नए आइडियाज का अभाव नजर आया। 5 अलग-अलग विषयों पर हुई समूह चर्चाओं, इंटरेक्टिव और यंग अचीवर्स के साथ मेरे सपनों का हरियाणा बनाने के लिए हुए सत्र में भी कोई ठोस सुझाव सामने नहीं आए। अलबत्ता, मुख्यमंत्री से लेकर तमाम मंत्रियों ने पिछली उपलब्धियां ही गिनाईं। अगले दो साल का कोई रोडमैप नहीं दिखा। हालांकि चिंतन के तमाम निष्कर्ष आखिरी दिन रविवार को ही सामने आने की उम्मीद है।

मुख्यमंत्री रविवार दोपहर बाद चिंतन शिविर के निष्कर्ष मीडिया से साझा करेंगे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हालांकि शुक्रवार को पहले दिन जिस तरह से हरियाणा को लेकर जैसी प्रतिबद्धता दिखाई थी। उसे देखते हुए उम्मीद की जा रही थी कि इस चिंतन से हरियाणा विकास के लिए कई नए आइडियाज सामने आएंगे। इसके लिए मंत्रियों, अफसरों से कहा गया था। अधिकारियों से तो उनके अनुभव और आइडियाज पर एक-एक आलेख भी लिया गया था। शिविर में रिसोर्स मोबिलाइजेशन वाले सत्र में जहां जीएसटी को बेहतर ढंग से लागू करने रेवेन्यू स्रोत बढ़ाने जैसी चीजों पर फोकस रहा। वहीं स्किल डेवलपमेंट को लेकर कोई ठोस प्लान नहीं बताया गया।

वर्ष 2022 तक किसानों की आय 1 लाख प्रति एकड़ का लक्ष्य

किसानों की आय दोगुनी करने और कृषि सुधार से संबंधित सत्र में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने प्रजेंटेशन दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार का किसानों की आय बढ़ाकर 60 हजार से 1 लाख रुपए प्रति एकड़ तक करने का लक्ष्य है। इसके लिए कैश क्रॉप के साथ-साथ पैदावार और पशुपालन को बढ़ावा दिया जाएगा। इसके साथ ही ग्रेडिंग, पैकेजिंग, ब्रांडिंग, डायरेक्ट मार्केटिंग, इनपुट लागत कम करने जैसे कई उपाय किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि और बेहतर सुझाव लेने के उद्देश्य से जल्दी ही चंडीगढ़ में किसान सूक्ष्म अर्थव्यवस्था पर और चौधरी चरण सिहं कृषि विश्वविद्यालय हिसार में किसान राउंड टेबल वार्ता भी आयोजित की जाएगी।

सपनों के हरियाणा पर कोई सुझाव नहींः मेरे सपनों का हरियाणा सत्र में कोई बेहतर सुझाव सामने नहीं आया। सीएम की मौजूदगी में यंग अचीवर्स के तौर पर रेवाड़ी निवासी नौसेना की लेफ्टिनेंट कमांडर संध्या चौहान, सफीदों के यंग टेक्नोक्रेट्स नीरज अग्रवाल और डबवाली के कॉमेडियन एवं अभिनेता सुनील ग्रोवर ने अपने विचार साझा किए। सीएम ने राज्य की फिल्म पॉलिसी में अभिनेता सुनील ग्रोवर का सहयोग मांगा।

अमले के साथ बिन बुलाए भी पहुंचे कई अफसर
सूत्रों के मुताबिक टिंबर ट्रेल होटल में पहले दिन तो काफी सख्ती नजर आई। लेकिन दूसरे दिन अलग-अलग बहाने से कई अफसर अपने गनमैन, पीए आदि समेत वहां पहुंच गए। इससे माहौल काफी गहमागहमी वाला नजर आया।

‘कम्युनिटी ट्यूबवैल सिस्टम से बचेगा जल’

भाजपा सरकार के चिंतन शिविर में शनिवार को दूसरे दिन लगातार गिर रहे भूमिगत जल स्तर पर चिंता जाहिर की गई। इसके साथ ही प्रदेश में ट्यूबवैलों की बढ़ती संख्या को भूमिगत जल दोहन का बड़ा कारण बताते हुए कम पानी वाली फसलों को बढ़ावा देने के पर फोकस करने का सुझाव दिया गया। यहां तक किसानों को कम्युनिटी ट्यूबवैल सिस्टम पर ले जाने और तालाबों की सफाई करके उनमें बरसाती पानी के संरक्षण का सुझाव भी दिया गया। वन ड्रॉप, मोर क्रॉप विषय पर हुई समूह चर्चा में कई सुझाव निकलकर सामने आए। इस समूह की अध्यक्षता लोक निर्माण मंत्री राव नरवीर ने की।

Click to listen..