--Advertisement--

प्रदेशभर के 1200 कंप्यूटर प्रोफेशनल्स रहे हड़ताल पर, सभी जिलों में लोगों के काम रुके

करनाल में रविवार को हुए लाठीचार्ज के विरोध में सोमवार को प्रदेशभर के 1200 कंप्यूटर ऑपरेटर हड़ताल पर रहे।

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 08:12 AM IST

पानीपत. करनाल में रविवार को हुए लाठीचार्ज के विरोध में सोमवार को प्रदेशभर के 1200 कंप्यूटर ऑपरेटर हड़ताल पर रहे। इसके चलते सभी जिलों में डीसी कार्यालय, एसडीएम कार्यालय, ई-दिशा केंद्र, जमीन रजिस्ट्री, लाइसेंस, डेमोसाइल, आरसी आदि के कार्य पूरी तरह ठप रहे। इसी तरह सिरसा जिला में कार्यरत कंप्यूटर प्रोफेशनल्स ने तीन घंटे की सांकेतिक हड़ताल कर रोष जताया। डीसी प्रभजोत सिंह को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर लाठीचार्ज करने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने, सातवें वेतन आयोग का लाभ देने और कच्चे कर्मचारियों को पक्का किए जाने की मांग की गई।


यमुनानगर में कंप्यूटर प्रोफेशनल संघ ने हड़ताल रखी। सभी कंप्यूटर प्रोफेशनल्स अनाज मंडी गेट पर धरने पर बैठे। इस दौरान डीसी को वह ज्ञापन देने पहुंचे तो डीसी ने उन्हें फटकार भी लगाई। बाद में कंप्यूटर प्रोफेशनल्स संघ के धरने पर सर्व कर्मचारी संघ पहुंचा और उन्होंने भी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। दोपहर बाद तहसीलदार को सीएम के नाम ज्ञापन दिया गया। हालांकि दो जिले कुरुक्षेत्र व पानीपत में कर्मचारी हड़ताल पर नहीं गए। यहां सरकारी कार्यालयों में काम काज सामान्य रूप से सुचारु रहा।

हिसार, जींद, करनाल, फतेहाबाद, भिवानी व अन्य जिलों
में कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

राज्यभर में कर्मचारियों ने दिनभर कहीं लघु सचिवालय तो कहीं पार्कों में बैठकर जमकर नारेबाजी की। हिसार, जींद, करनाल, फतेहाबाद, भिवानी, चरखी दादरी, सिरसा, कैथ्रल समेत प्रदेश के लगभग सभी जिलों में कर्मचारियों ने हड़ताल की। उनकी मुख्य मांग 10 वर्ष से कार्यरत ऑपरेटरों को नियमित करने व जब तक नियमितीकरण की कार्यवाही की जाए तब तक समान काम समान वेतन के आधार पर वेतन दिया जाए। सभी जिलों में हड़ताल से हजारों लोगों के कार्य प्रभावित हुए। वहीं, सरकार को लाखों के राजस्व का नुकसान हुआ है। कंप्यूटर आपरेटरों ने भाजपा सरकार पर वादाखिलाफी करने का आरोप भी लगाया।

इधर- करनाल में एक महिला समेत गिरफ्तार 9 कंप्यूटर ऑपरेटरों को कोर्ट से मिली जमानत

विभिन्न मांगों को लेकर कंप्यूटर ऑपरेटरों के प्रदर्शन के दौरान पुलिस पर पथराव करने व सरकारी काम में बाधा डालने पर पुलिस द्वारा पकड़े गए एक महिला सहित 9 कंप्यूटर ऑपरेटरों को पुलिस ने सोमवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जमानत मिल गई। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। सिविल लाइन थाना प्रभारी मोहन लाल ने बताया कि प्रदेशभर के कंप्यूटर ऑपरेटरों ने अपनी मांगों को लेकर ओएसडी कैंप के बाहर प्रदर्शन कर धरना दिया था। उन्हें रोकने के लिए पुलिस द्वारा बैरिगेट लगाए गए थे। आरोप है कि प्रदर्शन के दौरान कुछ कंप्यूटर ऑपरेटरों ने पुलिस पर पथराव किया, जिसमें कई पुलिस कर्मचारी भी चोटिल हो गए। इस कारण पुलिस ने वाटर कैनन का प्रयोग करते हुए प्रदर्शनकारियों पर लाठी चार्ज किया। इस दौरान पुलिस ने रमेश, सुशील, राहुल, खुुुरशीद, इंद्र कुमार शर्मा, पवन, सतीश कुमार, वरुण व अनिता को गिरफ्तार किया था। जिन्हें सोमवार को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें जमानत मिल गई।