पानीपत

--Advertisement--

22 साल की लड़की को महिलाओं ने बनाया गुरु, सास-बहू एक साथ करती हैं पढाई

इसमें बच्चे नहीं बल्कि आसपास की फैक्ट्रियों में मजदूरी करने वाली कामकाजी महिलाएं पढ़ाई का आनंद ले रही हैं।

Dainik Bhaskar

Jan 01, 2018, 05:34 AM IST
22 year old girl teach women

पानीपत . पानीपत के वार्ड-23 की भारत नगर कॉलोनी का सायंकालीन स्कूल। इसकी विशेष बात यह है कि इसमें बच्चे नहीं, बल्कि आसपास की फैक्ट्रियों में मजदूरी करने वाली कामकाजी महिलाएं पढ़ाई का आनंद ले रही हैं। 35 से 70 साल की उम्र में शिक्षा पाने वाली इन महिलाओं में गजब बात यह है कि सास-बहू एक साथ कक्षा लगाती हैं। इन्हें पढ़ाने वाला कोई और नहीं बल्कि इन्हीं के घर की बेटी है। स्कूल अाने वाली महिलाएं बोर्ड पर अपना नाम लिखकर हाजिरी दर्ज कराती हैं और हर शनिवार को बाल सभाओं की तर्ज पर ये महिलाएं अपनी सभा सजाती हैं।

अब अंगूठा नहीं, हस्ताक्षर करतीं हैं महिलाएं

- स्कूल काबड़ी रोड पर भारत नगर में चेतना परिवार के बैनर तले चलता है। शुरुआत दीप चंद निर्मोही व उनकी पत्नी कमला आर्य ने की थी।

- कमला ने बताया कि चौथी में पढ़ रही 45 साल की सरला अपनी धागा फैक्ट्री में लंच टाइम में अन्य महिलाओं को पढ़ाती है।

- 70 साल की शांति व 50 साल की राजगिरि अब अंगूठा नहीं लगाती, हस्ताक्षर करती है।

लोकगीतों पर नाचती गाती हैं महिलाएं

खुद के तैयार लोक गीत... ए! मेरी गेल चाल स्कूल, जै ना पढ़ी चेतना स्कूल, फेर घणी पछतावैगी... गाते हुए तालियों की ताल पर खूब नाचती हैं।

आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण छोड़नी पड़ी थी पढ़ाई

- 22 साल की नेहा अपनी 70 साल की दादी संतोष को पहली क्लास और 45 साल की मां पवित्रा को चौथी क्लास में पढ़ाती है।

- नेहा ने बताया कि वह 12वीं तक रेगुलर पढ़ सकी। मजबूरी और माता-पिता अनपढ़ होने से पढ़ाई छोड़नी पड़ी।

- उसकी तरह कोई पढ़ाई न छाेड़ सके, इसके लिए चेतना परिवार से जुड़कर यहां महिलाओं को निस्वार्थ पढ़ाना शुरू किया।

- मां व दादी ने यहां पढ़ाई शुरू करने के बाद नेहा की बीए कराने के लिए प्राइवेट आवेदन किया है।

22 year old girl teach women
22 year old girl teach women
X
22 year old girl teach women
22 year old girl teach women
22 year old girl teach women
Click to listen..