Hindi News »Haryana »Panipat» 35 Cases Like Violence, Murder And Misdeeds Four Months In State Schools

4 महीने में हरियाणा के स्कूलों में हिंसा, मर्डर और रेप जैसी 35 वारदातें, सवालों में सुरक्षा

अम्बाला के एक स्कूल में चाकू लेकर पहुंचने की लगातार दूसरी घटना ने स्कूल प्रबंधकों और अभिभावकों की चिंता बढ़ा दी है।

Bhaskar news | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:53 AM IST

  • 4 महीने में हरियाणा के स्कूलों में हिंसा, मर्डर और रेप जैसी 35 वारदातें, सवालों में सुरक्षा
    +3और स्लाइड देखें

    पानीपत/अम्बाला.हरियाणा में सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में सुरक्षा खुद सवालों में है। क्योंकि प्रदेश के स्कूलों में चार महीने में ही हिंसा, मर्डर और दुष्कर्म जैसी 35 वारदातें सामने आ चुकी हैं। हाल ही में छात्र द्वारा प्रिंसिपल की हत्या और अम्बाला के एक स्कूल में चाकू लेकर पहुंचने की लगातार दूसरी घटना ने स्कूल प्रबंधकों और अभिभावकों की चिंता बढ़ा दी है। ऐसे में स्कूलों में सुरक्षा व्यवस्था की जांच को लेकर जिला स्तर पर 3 कमेटियां गठित होने की 31 जनवरी डेडलाइन थी। भास्कर ने प्रदेश के जब स्कूलों का हाल जाना तो पाया कि डेडलाइन खत्म हो गई, ऐसे में सीसीटीवी कैमरा इंस्टालेशन तो दूर की बात रही। कई स्कूलों में कमेटियां तक नहीं बनी। 3690 स्कूलों में से केवल 777 स्कूलों में ही सीसीटीवी लगे मिले। इसके साथ ही केवल 2 फीसदी स्कूलों में ही कमेटियां बन सकी हैं।


    वहीं एनसीआरबी द्वारा जारी आकड़ा बच्चों से अपराध के मामले में हरियाणा देश भर में सबसे पीछे रहा है। ऐसा पहली बार हुआ है जब एनसीआरबी ने आंकड़ा जुटाते वक्त पीड़ित का रिश्ता और रेप केस में संलिप्त आरोपी भी लिया है। प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन एगेंस्ट सेक्सुअल ऑफेंस एक्ट (पॉस्को) एक्ट के तहत क्राइम में निकट संबंधी ही सबसे जिम्मेदार नजर आए हैं।
    प्रदेश में जिन स्कूलों ने सीसीटीवी लगाए हैं, वह उनका निजी प्रयास ही दिखा है। बच्चों की सुरक्षा से जुड़े मानकों को प्राइवेट स्कूलों द्वारा लागू नहीं किया जाता। स्कूल बस से लेकर ऑटो तक बच्चों की सुरक्षा से खिलवाड़ होता है। प्राइवेट स्कूल प्रिंसिपल का कहना है कि स्कूलों में समय पर बस ड्राइवर को जागरूक किया जाता है। स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था भी गई है। वहीं अम्बाला की डीईओ उमा शर्मा ने दावा किया कि सरकारी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा के लिए कमेटी व सेफ्टी क्लब बना दिये हैं। पहले स्कूल स्तर पर शिकायत निपटाई जाएंगी।

    आगे की स्लाइड्स में पढ़ें बच्चों के साथ रेप में पड़ोसी ही सबसे बड़े जिम्मेदार

  • 4 महीने में हरियाणा के स्कूलों में हिंसा, मर्डर और रेप जैसी 35 वारदातें, सवालों में सुरक्षा
    +3और स्लाइड देखें
  • 4 महीने में हरियाणा के स्कूलों में हिंसा, मर्डर और रेप जैसी 35 वारदातें, सवालों में सुरक्षा
    +3और स्लाइड देखें
  • 4 महीने में हरियाणा के स्कूलों में हिंसा, मर्डर और रेप जैसी 35 वारदातें, सवालों में सुरक्षा
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×