--Advertisement--

साथ पढ़ने वाली नाबालिग के साथ रेप कर दोस्त को सौंपा, डांस बार से लड़की को किया बरामद

एक नाबालिग को शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया। बाद में आरोपी ने नाबालिग को अपने दोस्त को सौंप दिया।

Danik Bhaskar | Mar 15, 2018, 04:00 AM IST

करनाल. घरौंडा एरिया में एक नाबालिग को शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया। बाद में आरोपी ने नाबालिग को अपने दोस्त को सौंप दिया। दोस्त ने भी लड़की के साथ दुष्कर्म किया। फिर लुधियाना से एक महिला दोस्त के माध्यम से बैंगलुरू डांस बार में भेज दिया। करनाल पुलिस ने कार्रवाई करते हुए नाबालिग लड़की को बैंगलुरू के एक डांस बार से बरामद कर लिया। आरोपी सौरभ और कृष्ण को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस जांच में सामने आया है कि सौरभ उसके स्कूल में पढ़ता था और वहीं से लड़की के साथ दोस्ती हुई।


23 फरवरी को घरौंडा थाना में एक व्यक्ति ने शिकायत दी कि उसकी नाबालिग बेटी का अपहरण कर लिया गया है। शिकायत के आधार पर पुलिस ने केस दर्ज किया है। एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा ने केस की जांच मूनक चौकी इंचार्ज एएसआई कुलदीप सिंह को सौंपी। एएसआई कुलदीप सिंह ने गहनता के साथ मामले की छानबीन शुरू कर इसकी कड़ियों को जोड़ते हुए 2 मार्च को मूनक क्षेत्र से आरोपी सौरभ वासी रायपुर जट्टान को गिरफ्तार किया।


11 मार्च को एएसआई कुलदीप सिंह लड़की के पिता को साथ लेकर बैंगलुरू पहुंचे और वहां बड़ी मशक्कत के बाद उन्होंने एक होटल बिग बास से लड़की को बरामद किया। पुलिस टीम उसके पिता के साथ उसको लेकर करनाल पहुंची और उसे अदालत के समक्ष पेश कर उसके बयान दर्ज करवाए और परिजनों के हवाले कर दिया। पुलिस ने बुधवार को आरोपी कृष्ण को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। रिमांड में उसके साथियों व लड़की के अपहरण के कारणों के संबंध में पूछताछ की जाएगी।

लड़की के बयान दर्ज : नाबालिग लड़की ने बताया कि आरोपी सौरभ उसे शादी का झांसा देकर बहला-फुसलाकर अपने साथ घर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। अगले दिन सुबह करीब 11 बजे सौरभ ने उसे गांव रायपुर जट्टान के ही रहने वाले कृष्ण कुमार को सौंप दिया, जिसने उसके साथ खेतों में ले जाकर दुष्कर्म किया। वह उसे लेकर पटियाला गया, जहां पर वे दो दिनों तक रहे और इसके बाद वे लुधियाना गए। वहां पर वे करीब 7 दिन तक रहे। इसके बाद वे करीब दो दिन चंडीगढ़ में रहे और वहां से आरोपी कृष्ण कुमार ने अपनी महिला दोस्त की मदद से हवाई जहाज के जरिए बैंगलुरू भेज दिया। वहां भी वह 4 से 5 दिन रही।