--Advertisement--

मामूली सी वजह बनी बेटे के मौत का कारण, रोती हुई मां पूछती रही एक ही सवाल

शराब पीने के लिए पानी नहीं देने पर नशेड़ी युवकों की गोली का शिकार बना नरेश सरकारी सेवा में जाना चाहता था।

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:51 AM IST
bar wendor shot dead in wine shop, wanted to do government jobs

पानीपत। शराब पीने के लिए पानी नहीं देने पर नशेड़ी युवकों एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। गोली का शिकार बना नरेश सरकारी सेवा में जाना चाहता था। 4 फरवरी को उसे अंबाला में रेलवे ट्रेडमैन पोस्ट के लिए एग्जाम के लिए जाना था। इसके लिए वह पिछले समय से तैयारी कर रहा था। झील गांव का रहने वाला नरेश अनमैरिड था। वह केवल12वीं पास था। वह अपने फैमिली का इकलौता सहारा था। इसी पर पूरे परिवार की जिम्मेदारी थी। रोती मां पूछती रही महिलाओं से एक ही सवाल..

- नरेश अपनी जिम्मेदारी को अच्छे से निभाने के लिए वह सरकारी नौकरी की तलाश में था।

- नौकरी न मिलने के कारण वह पिछले करीब तीन साल से शराब ठेके पर कारिंदे की पार्ट टाइम जॉब कर रहा था। जैसे ही नरेश के मर्डर का घरवालों को पता लगा तो वे बेहोश होकर गिर पड़े।

- गांव में जब तक उसकी डेडबॉडी नहीं पहुंची तब तक उसकी मां बीरमती रोते बिलखते कह रही थी मेरा नरेश मुझे छोड़कर कहीं नहीं जा सकता।

- ढांढस बंधा रही महिलाओं से बार बार पूछ रही थी कि मेरा नरेश आ गया क्या? इसी प्रकार बूढ़े दादा ताराचंद, दादी चंदो देवी का तो बुरा हाल किसी से देखा भी नहीं गया।

- डेडबॉडी को लेकर गांव पहुंचने पर पिता महाबीर फफक फफक कर रोते हुए बोले आज तो उनकी दुनिया उजड़ गई है। अब वे किसके सहारे जीएंगे। एक ही कमाने वाला था जो भी दुश्मनों ने नहीं छोड़ा।

रात को वारदात, फिर भी अगले दिन दोपहर को हुआ पोस्टमार्टम
- शराब ठेके के कारिंदे नरेश की गोली मारकर हत्या करने की वारदात बुधवार रात करीब पौने 11 बजे को हुई थी।

- रात को ही पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में पहुंचा दिया था। सुबह करीब नौ बजे पुलिस ने सभी कागजात तैयार कर लिए थे।

- बावजूद इसके डाॅक्टरों ने दोपहर को पोस्टमार्टम किया। इस पर सिविल हॉस्पिटल में पहुंचे पुलिस अधिकारी भी खफा दिखाई दिए।

- उनका कहना था कि डाॅक्टरों के पास जाते हैं तो वे कहते हैं फलां डाॅक्टर पोस्टमार्टम करेगा। परिजनों ने भी आरोप लगाए कि डॉक्टरों को पीड़ित परिवार की कोई चिंता नहीं है। ग्रामीण भूखे प्यासे रात से ही अस्पताल में डटे हैं।

- वहीं डाॅक्टरों का कहना था कि मामला मर्डर का होने के कारण वे पूरी प्रक्रिया के तहत ही पोस्टमार्टम करेंगे। शव के एक्स-रे व अन्य जांच भी कराई गई है, जिसकी वजह से समय लगा है।

मामूली बहस बन गई नरेश के लिए जानलेवा
- कारिंदे नरेश को नहीं पता था कि पानी से मना करने की मामूली बहस उसके लिए जानलेवा साबित होगी।

- एक दिन पहले ही रेलवे रोड के पास ठेका से काठमंडी ठेके पर आए नरेश ने तो रूटीन में ही शराबियों को कहा था कि पानी बाहर से ले लेें।

- उसके बाद जब उन्होंने कहा कि पानी नहीं दे रहा तो तुझे देख लेंगे, इस धमकी को भी उसने गंभीरता से नहीं लिया।

- वह तो फिर भी ठेके को बंद करने से पहले कैश काउंट करने में जुटा था। तभी गेट पर आकर बदमाशों में से एक ने देसी कट्टे से गोली मार दी।


'पिस्टल लिए होता तो बदमाशों को जवाब देता'
- पिछले करीब तीन साल से शराब ठेकों पर कारिंदे की नौकरी करने वाला नरेश वैसे तो अपनी सुरक्षा को लेकर काफी गंभीर दिखाई देता था।

- बाकायदा उसने लाइसेंसी हथियार लिया हुआ था लेकिन पिछले दिनों से वह ठेकेदार के कहने पर अपना हथियार घर पर ही रखा हुआ था।

- परिजनों को इस बात का पछतावा हो रहा है कि अगर उनका बेटा अपना हथियार लिए हुए होता तो बदमाशों को जवाब दे सकता था।

पुलिस कई एंगल से जांच कर रही है : एसएचओ
- शराब ठेके के कारिंदे की हत्या मामले में पुलिस ने अज्ञात तीन युवकों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

- हत्या के पीछे युवकों द्वारा शराब पीते समय पानी न देने पर विवाद सामने आया है।

- परिजन किसी रंजिश होने की बात से इंकार कर रहे हैं। फिर भी पुलिस सभी एंगल से जांच में जुटी है। -जगबीर सिंह, एसएचओ, सिटी थाना, जींद।

bar wendor shot dead in wine shop, wanted to do government jobs
bar wendor shot dead in wine shop, wanted to do government jobs
X
bar wendor shot dead in wine shop, wanted to do government jobs
bar wendor shot dead in wine shop, wanted to do government jobs
bar wendor shot dead in wine shop, wanted to do government jobs
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..