--Advertisement--

उद्घाटन के लिए 8 लोगों को थमाई कैंची, CM बोले- वन-टू-थ्री... और चार ने एक साथ काटा रिबन

अगले दो साल में प्रदेश में 10 लाख मीटर स्मार्ट किए जाएंगे। इसमें 5 लाख तो इसी वित्तीय वर्ष में किए जाएंगे।

Danik Bhaskar | Jan 26, 2018, 07:07 AM IST

पानीपत। मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने गुरुवार को पानीपत में प्रदेश के पहले स्मार्ट ग्रिड पायलट प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया। जापान की सरकारी कंपनी नीडो की 80 फीसदी हिस्सेदारी के इस प्रोजेक्ट पर 155 करोड़ रुपए खर्च हुआ है। सीएम ने कहा कि इससे पानीपत के 4 फीडरों के 10 हजार मीटर स्मार्ट होंगे। अगले दो साल में प्रदेश में 10 लाख मीटर स्मार्ट किए जाएंगे। इसमें 5 लाख तो इसी वित्तीय वर्ष में किए जाएंगे।

1608 करोड़ की लागत से गुड़गांव में भी यह प्रोजेक्ट लगाया जा रहा है। इससे पूरे गुड़गांव को जेनरेटर मुक्त किया जाएगा। सीएम ने कहा कि मानेसर और कुंडली के औद्योगिक क्षेत्रों में 35 करोड़ की लागत से बिजली की अपग्रेेड स्काडा सिस्टम लागू किया जा रहा है। पानीपत के शेष क्षेत्रों, पंचकूला, करनाल और फरीदाबाद में भी 270 करोड़ रुपए खर्च कर बिजली व्यवस्था और बेहतर की जाएगी। 26 जनवरी से प्रदेश के 471 और गांव म्हारा गांव जगमग गांव योजना से जुड़ जाएंगे। इससे 250 फीडरों के 1340 गांव पहले से ही जुड़े हुए हैं। जो अब बढ़कर 1811 गांव हो जाएंगे।

उद्घाटन के लिए 8 लोगों को थमाई कैंची, सीएम बोले- वन-टू-थ्री... और चार ने एक साथ काटा रिबन, बाकी चार देखते ही रह गए
प्रदेश की पहली स्मार्ट ग्रिड का उद्घाटन गुरुवार को अनूठे ढंग से हुआ। उद्घाटन सीएम मनोहर लाल को करना था, लेकिन आयोजकों ने एक रिबन काटने के लिए सीएम समेत 8 लोगों के हाथों में कैंचियां पकड़ा दीं। रिबन काटने में कोई आगे-पीछे न हो, इसके लिए बकायदा सीएम ने वन-टू-थ्री बोला...तो चार नेताओं ने रिबन पर एक साथ कैंची चलाई, लेकिन बाकी के चार देखते ही रह गए। एक साथ रिबन काटने वालों में (बाएं से) पानीपत के भाजपा जिलाध्यक्ष प्रमोद विज, विधायक महिपाल ढांडा, सीएम मनोहर लाल और एंबेसी में जापान के मंत्री केनिको सेन शामिल हैं। जिन्होंने बाद में रिबन काटा उनमें पांचवे नंबर एचईआरसी के चेयरमैन जगजीत सिंह हाथ में कैंची लिए दिख रहे हैं।