--Advertisement--

युवक को मरा समझकर चारे के नीचे छुपाया था, हत्या की कोशिश में 5 साल की कैद

इसराना थाना क्षेत्र के बिजावा गांव में करीब दो साल पहले युवक पर जानलेवा हमला करने के दाेषी को कोर्ट ने 5 साल कैद की सजा

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 07:05 AM IST

पानीपत. इसराना थाना क्षेत्र के बिजावा गांव में करीब दो साल पहले युवक पर जानलेवा हमला करने के दाेषी को कोर्ट ने 5 साल कैद की सजा सुनाई है। उस पर 20 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। नहीं देने पर छह माह की जेल अतिरिक्त काटनी होगी। यह फैसला जिला एवं सत्र न्यायाधीश डॉ. जेआर चौहान ने सुनाया है। 16 नवंबर 2015 को बिजावा निवासी अर्जुन पुत्र राजसिंह बकरी चरा रहा था। दोपहर करीब 12 बजे गांव का 38 वर्षीय भूपेंद्र पुत्र सूरत सिंह उसके पास आया। आते ही भूपेंद्र ने अर्जुन के साथ हाथापाई कर दी।

भूपेंद्र लाठी छीनकर अर्जुन को पीटने लगा तो उसने धक्का दे दिया। इसके बाद अर्जुन ने लाठी छीनकर भूपेंद्र के मुंह पर कई वार किए। खून से लथपथ भूपेंद्र को मरा समझकर आरोपी अर्जुन उसे खींचकर सड़क के नीचे कच्ची जगह पर ले गया। इसके बाद खेत में पड़े बाजरे का चारा डालकर भूपेंद्र को ढक दिया। भूपेंद्र का भाई सतबीर सिंह खेत पर जा रहा था। चारा में हलचल देखकर उसने चारा उठाया तो भूपेंद्र खून से लथपथ हुआ था। इस पर उसे शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। सतबीर ने जेल से बाहर आए गांव के राजेश व उसके अज्ञात साथियों के खिलाफ हत्या की कोशिश का केस दर्ज कराया था। 19 नवंबर को पुलिस ने अर्जुन को गिरफ्तार किया था। इस पूरे मामले की जांच में राजेश को निर्दोष पाया गया था। वहीं जिस दोषी को सजा सुनाई गई है उस पर 20 हजार रुपए का जुर्माना भी कोर्ट ने लगाया है। अगर दोषी इस जुर्माना राशि को नहीं भरता तो उसे अतिरिक्त जेल की सजा काटनी पड़ेगी।